Kedarnath: 17 घंटे की साधना के बाद गुफा से निकले मोदी, बोले 'मैं भगवान से कुछ मांगता नहीं हूं'

नई दिल्ली| देश में लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण के लिए हो रहे मतदान के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की केदारनाथ व बद्रीनाथ की यात्रा सुर्ख़ियों में हैं| शनिवार को केदारनाथ मंदिर में रुद्राभिषेक करने के बाद पीएम मोदी ने यहां की गुफा में 17 घंटे का ध्यान लगाया| गुफा में करीब 17 घंटे से ज्यादा समय व्यतीत करने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार सुबह गुफा से बाहर निकले।  रुद्र गुफा से ध्यानकर बाहर निकलने के बाद मोदी ने मीडिया से बातचीत की| केदारनाथ में पूजा अर्चना के बाद वह बदरीनाथ धाम पहुंचे। इसके बाद उन्होंने केदारनाथ में पूजा अर्चना की। इस बीच तृणमूल कांग्रेस ने चुनाव आयोग को पत्र लिखकर मोदी की यात्रा के कवरेज को आचार संहिता का उल्लंघन बताया।

पत्रकारों से बातचीत में पीएम मोदी ने कहा कि मैं भगवान से मांगता नहीं हूं। मांगना मेरी प्रवृति नहीं है। मोदी ने कहा कि भगवान के चरणों में आने के बाद मैं कुछ मांगता नहीं हूं। भगवान ने आपको मांगने योग्य नहीं देने योग्य बनाया है।  पीएम मोदी ने ये भी कहा कि इस धरती से मेरा एक विशेष नाता रहा है| कल से मैं गुफा में रहने एकांत के लिए चला गया था, उस गुफा से 24 घंटे बाबा दर्शन किए जा सकते हैं| वर्तमान में क्या हुआ मैं उससे बाहर था, अपने आप में था| दो दिन का आराम मिला, इसके लिए चुनाव आयोग का आभार। उन्होंने कहा कि विकास का मेरा मिशन, प्रकृति पर्यावरण और पर्यटन. आस्था और श्रद्धा को और अधिक संभालने के लिए क्या कर सकते हैं, आध्यात्मिक चेतना में इजाफा नहीं कर सकते हैं लेकिन रुकावटे डालने से रोक सकते हैं. मैं वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से काम का जायजा लेता रहता हूं|

शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र सिंह मोदी उत्तराखंड पहुंचे। यहां केदारनाथ धाम में वह पूरी तरह से आध्यात्मिक रंग में रंगे नजर आए। इस दौरान उन्होंने गर्भगृह में रुद्राभिषेक किया तो मंदिर की परिक्रमा भी की।  दोपहर बाद करीब दो बजे वह साधना के लिए एकांत स्थल की तरफ गए।  मंदिर से 1.5 किलोमीटर दूर ध्यान गुफा में उन्होंने रात बिताई। 






"To get the latest news update download tha app"