मध्य प्रदेश में कावड़ यात्रियों को सुरक्षा देगी सरकार

भोपाल। सावन का महीना शुरू होने वाला है| इसके साथ ही व्रत और त्योहारों की शुरुआत भी हो जाएगी, वहीं भोले के भक्त कंधे पर जल लेकर भगवान शिव के ज्योतिर्लिंगों पर चढ़ाने के लिए निकल पड़ेंगे जिसे 'कांवड़ यात्रा' कहा जाता है। सावन के महीने में कावड़ यात्रा का विशेष महत्त्व माना जाता है, जिसके चलते प्रदेश में बड़ी संख्या में श्रद्धालु कावड़ यात्रा निकालते हैं| इसके लिए सरकार ने भी तैयारी कर ली है| प्रदेश सरकार कावड़ यात्रियों को सुरक्षा मुहैया कराएगी| 

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा है कि प्रदेश सरकार कांवड़ यात्रियों को सुरक्षा मुहैया कराएगी। उन्होंने सभी जिला कलेक्टरों को निर्देश जारी किए हैं कि कांवड़ यात्रियों की सुरक्षा के संपूर्ण इंतजाम किए जाएं आौर यात्रा मार्ग पर दिन के समय भारी वाहनों का प्रवेश प्रतिबंधित किया जाए। बता दें कि सावन मास आते ही कावड़ यात्रियों के आने का सिलसिला शुरू हो जाता है| धर्म ध्वजा लहराते हुए कावड़िए नाचते-गाते हुए निकलते हैं, तो माहौल शिवमय हो जाता है| हजारों की संख्या में कावडिय़े क्षिप्रा, नर्मदा का जल लेकर पैदल यात्रा पर निकलते है| कावड़ यात्रा के दौरान कई बार कावड़िये सड़क दुर्घटना का शिकार हो जाते हैं, या रास्ते में उन्हें कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है, इसके लिए मुख्यमंत्री ने विशेष इंतजाम के निर्देश दिए हैं| 

सीएम ने कावड़ यात्रियों के लिए सभी आवश्यक इंतजाम करने के निर्देश दिए हैं, जिससे यात्रियों को किसी तरह की परेशानी न हो। मुख्यमंत्री ने आज सुबह ट्वीट के माध्यम से कहा कि सावन के महीने में हमारी धार्मिक कावड यात्रा प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में धूमधाम से निकलती है। इसको लेकर पूरे प्रदेश में प्रशासन को निर्देश कि कावड यात्रियों की सुरक्षा के संपूर्ण इंतज़ाम करने से लेकर  यात्रा मार्ग पर दिन के समय भारवाहक वाहनो के प्रवेश प्रतिबंधित व अन्य सारे आवश्यक इंतज़ाम किये जाये , जिससे यात्रियों को किसी भी प्रकार की कोई दिक्कत ,परेशानी ना हो।


"To get the latest news update download tha app"