कांग्रेस में मची खींचतान के बीच पूर्व विधायक ने थामा BJP का दामन

पुणे

कांग्रेस के अंदरखानों में इन दिनों हालात ठीक नही है, इसी के चलते आज पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने दिल्ली में एक बड़ी बैठक बुलाई है।इसी बीच अब कांग्रेस के दिग्गज नेता हर्षवर्धन पाटील ने बीजेपी में ज्वाइन कर ली है । पाटिल दक्षिण मुंबई में आयोजित एक कार्यक्रम में मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस  की मौजूदगी में भाजपा में शामिल हुए। हालांकि पिछले कुछ दिनों से अटकलें लगाई जा रही थी कि अपने गढ़ इंदापुर से चार बार विधायक रहे पाटिल भाजपा में शामिल हो सकते हैं क्योंकि राकांपा आगामी विधानसभा चुनाव में इस सीट को कांग्रेस को देने के लिए तैयार नहीं है। इस सीट से वर्तमान में राकांपा के दत्ता भरणे विधायक हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वह पिछले पांच साल से पाटिल के भाजपा में शामिल होने का इंतजार कर रहे थे। फडणवीस ने संकेत दिया कि पाटिल इंदापुर विधानसभा सीट से भाजपा के प्रत्याशी हो सकते हैं। यह सीट पुणे जिले में पड़ती है। पाटिल के जाने से राज्य में कांग्रेस को दूसरा बड़ा झटका लगा है। इससे पहले राधाकृष्ण विखे पाटिल लोकसभा चुनाव के बाद कांग्रेस छोड़ भगवा दल में शामिल हो गए थे और फडणवीस सरकार में कैबिनेट मंत्री बन गए थे।

दरअसल, राकांपा पर इंदापुर विधानसभा सीट कांग्रेस को देने का वादा पूरा न करने का आरोप लगाते हुए वरिष्ठ कांग्रेस नेता हर्षवर्धन पाटील ने संकेत दिए कि वह आगामी कुछ दिनों में बीजेपी में शामिल हो सकते हैं।पाटिल का कहना है कि विगत लोकसभा चुनाव के दौरान राहुल गांधी (तत्कालीन कांग्रेस अध्यक्ष) की मौजूदगी में यह निर्णय हुआ था कि राज्य विधानसभा चुनाव में राकांपा इस सीट को कांग्रेस के लिए छोड़ेगी और इस कारण हम सभी ने राकांपा उम्मीदवार सुप्रिया सुले के लिए काम किया तथा उन्हें 71 हजार मतों की बढ़त दिलाई। पाटिल ने भाजपा में जाने के संकेत देते हुए इंदापुर के लोगों से संबंधित मुद्दों के समाधान में मदद के लिए मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस की सराहना की। 


"To get the latest news update download tha app"