अब दिग्विजय समर्थक इस मंत्री ने किया आर्टिकल 370 हटाने का समर्थन

भोपाल। मोदी सरकार को जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाए एक हफ्ते से ज्यादा बीत गया है लेकिन इसको लेकर सियासत अब भी गर्माई हुई है। वही इस फैसले के बाद कांग्रेस में जमकर हलचल मची हुई है। एक तरफ कांग्रेस के बड़े नेता इसका विरोध कर रहे है वही दूसरी तरफ एमपी में एक के बाद एक नेता-मंत्री विधायक खुलकर इसका समर्थन कर रहे है। अब कमलनाथ सरकार में सहकारिता मंत्री गोविंद सिंह ने कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने का समर्थन किया है।  इससे पहले कई मंत्री धारा 370  के हटाए जाने के फैसले का समर्थन कर चुके है। 

दरअसल, गोविंद सिंह दिग्विजय समर्थक माने जाते है, अभी तक दिग्विजय इसके विरोध में है और मोदी सरकार पर इसको लेकर लगातार हमले बोल रहे है, ऐसे में गोविंद सिंह ने मोदी के इस फैसले का समर्थन कर सियासी हलकों में हलचल मचा दी है | उनका कहना है कि अगर केंद्र सरकार विपक्ष का भी समर्थन लेती तो ज्यादा अच्छा होता। हैरानी की बात तो ये है कि मंत्री का बयान ऐसे समय पर आया है जब मोदी सरकार देश के सामने अपने कामों का गुणगान कर रही है और कांग्रेस धारा 370  को लेकर विरोध में उतरी हुई है । 

दिग्विजय बोले मोदी ने देश को मुसीबत में डाला 

इधर, मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विंजय सिंह ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाने के लिए अपनाए गए तरीके पर आपत्ति दर्ज कराई है। सिंह ने कहा कि कश्मीर में अनुच्छेद 370 करने का फैसला लेकर इन्होंने अपनी शान बघारी है। कश्मीर के साथ जो निर्णय लिया है, वह कश्मीर के लोगों को विश्वास में लिए बगैर, यह अच्छा नहीं किया। इससे वहां संकट बढ़ेगा। यह मत भूलिए कि कश्मीर के एक तरफ  चीन है, एक तरफ  पाकिस्तान है और पास में अफगानिस्तान है। कहां आपने देश को मुसीबत में डाल दिया है।”


इसके पहले इन मंत्री और नेताओं ने किया समर्थन

इसके पहले प्रदेश के पीएचई मंत्री सुखदेव पांस ने केन्द्र सरकार द्वारा कश्मीर से धारा 370 हटाने की कार्रवाई का स्वागत किया है। पांसे ने कहा- देश हित में लिए जाने वाले फैसलों का स्वागत होना चाहिए। ये फैसला सबको साथ लेकर होना चाहिए था।सुखदेव पांसे को कमलनाथ खेमे का मंत्री माना जाता है। सुखदेव पांसे बैतूल जिले के मुलताई से विधायक हैं और कमलनाथ के करीबी मंत्रियों में से एक हैं।कमलनाथ के करीबी माने जाने वाले वित्तमंत्री तरुण भनोत ने भी धारा-370 हटाने का समर्थन किया है और कहा कि भारत माता को मानने वाला हर लाल चाहता है देश की अखंडता बनी रहे। मैं देश को मजबूत बनाने वाले हर कदम का करता स्वागत करता हूं। वही पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया और चाचौड़ा से कांग्रेस विधायक औऱ पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय के भाई लक्ष्मण सिंह भी इसका समर्थन कर चुके है, जबकी दिग्विजय और सीएम कमलनाथ की अभी तक कोई प्रतिक्रिया सामने नही आई है। इससे पहले कांग्रेस नेता मिलिंद देवड़ा, दीपेंद्र हुड्डा और पूर्व महासचिव जर्नादन द्विवेदी पहले ही इस बिल का समर्थन कर चुके हैं।


"To get the latest news update download tha app"