INDvsNZ: हार के बाद क्या बोले कप्तान विराट कोहली

खेल डेस्क: विश्व कप-2019 में खिताब की प्रबल दावेदार मानी जा रही भारतीय टीम का सफर सेमीफाइनल में खत्म हो गया है। उसे दो दिन तक चले इस रोमांचक सेमीफाइनल मैच में न्यूजीलैंड के हाथों हार झेलना पड़ी| इसी के साथ टीम इंडिया वर्ल्ड कप से बाहर हो गई| विश्‍व कप से बाहर होने पर भारतीय कप्‍तान विराट कोहली ने कहा इंडिया ने पूरे टूर्नामेंट में शानदार खेल दिखाया, लेकिन 45 मिनट के खराब खेल ने दिल तोड़ दिया। कोहली ने मैच के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि टीम इंडिया पॉइंट टेबल में टॉप पर थी, लेकिन नॉक आउट में एक बुरा दिन टीम को भारी पड़ा और हम वर्ल्ड कप से बाहर हो गए। 

कोहली ने कीवी गेंदबाजों की तारीफ की है और कहा कि उन्होंने हमेशा भारत को दबाव में रखा| न्यूजीलैंड ने भारत के सामने 240 रनों का लक्ष्य रखा था लेकिन बारिश के कारण दो दिन तक खिंचे इस सेमीफाइनल में भारत 49.3 ओवरों में 221 रनों पर आउट हो गया और 18 रनों से मैच हार गया| कोहली ने कहा हमें हार स्वीकार करने में कोई झिझक नहीं है। बल्लेबाजी करते समय हमारा शॉट सिलेक्शन खराब रहा। भारतीय पारी शुरू होने से पहले हमें आत्मविश्वास था कि 240 का टारगेट हासिल कर लेंगे, लेकिन न्यूजीलैंड के गेंदबाजों ने पहले 7-8 ओवर में अच्छी गेंदबाजी की।


जडेजा की तारीफ 

विराट कोहली ने कहा,  जडेजा ने बीते कुछ मैचों में अच्छा किया है,  उनका आज का प्रदर्शन उनके लिए बेहद सकारात्मक है| धोनी के साथ उन्होंने अच्छी साझेदारी की, लेकिन एक बार फिर हम कम अंतर से रह गए| धोनी काफी कम अंतर से रन आउट हुए, आप जब पूरे टूर्नामेंट में अच्छा खेलते हो और सिर्फ 45 मिनट खराब खेलने के बाद आप बाहर हो जाते हो तो बुरा लगता है|


पंत और धोनी का किया बचाव 

कोहली ने इस मौके पर ऋषभ पंत और महेंद्र सिंह धोनी का बचाव किया। धोनी की धीमी बल्लेबाजी के सवाल पर कप्तान ने कहा कि उन्होंने टीम की स्थिति को देखते हुए सही पारी खेली। तब रविंद्र जडेजा रन बना रहे थे और धोनी के लिए जरूरी था कि वे एक छोर संभाले रखे और उन्होंने यही किया। उन्हें जो रोल दिया गया था, उन्होंने वही किया। इसी तरह ऋषभ पंत के शॉट सिलेक्शन पर कोहली ने कहा कि बाहर बैठकर कहना कि ऐसा शॉट नहीं खेलना था, आसान है, लेकिन जो दो खिलाड़ी पिच पर होते हैं, वे ही तय करते हैं कि उन्हें कैसे शॉट खेलना हैं।


जीत का श्रेय न्यूजीलैंड के गेंदबाजों को 

कोहली ने कहा,  इस जीत का श्रेय न्यूजीलैंड के गेंदबाजों को जाता है. उन्होंने नई गेंद से सही जगहों पर गेंदबाजी की. मुझे लगता है कि यह कीवी टीम के गेंदबाजों की बेहतरीन योग्यता का उदाहरण था| कोहली ने कहा, न्यूजीलैंड इस जीत की हकदार थी. उन्होंने हमेशा हमें दबाव में रखा. वहीं मुझे लगता है कि हमारा शॉट्स का चयन और बेहतर हो सकता था. अन्यथा हमने अच्छी क्रिकेट खेली. हमने पूरे टूर्नामेंट में जिस तरह से खेला मुझे उस पर गर्व है|  

"To get the latest news update download tha app"