World Cup 2019: पहली बार इंग्लैंड के खिलाफ 'भगवा' जर्सी पहनकर खेलेगी टीम इंडिया

नई दिल्ली।

अबतक ब्लू जर्सी पहन कर खेलती आई टीम इंडिया इस बार इंग्लैंड के खिलाफ भगवा (नारंगी) जर्सी में मैदान पर उतरेगी।आईसीसी नियमों के अनुसार मेजबान टीम को आईसीसी इवेंट में खेलते हुए अपनी जर्सी के रंग को बरकरार रखना होता है। चूंकी भारत की जर्सी भी नीले रंग की है, ऐसे में भारत की जर्सी में यह बदलाव किया गया है। ऐसे में मेजबान इंग्लैंड की टीम अपनी हल्की नीली जर्सी में ही खेलने उतरेगी।हालांकि भारतीय टीम की किट स्पांसर कंपनी नाइक ने इस बारे में चुप्पी साध रखी है कि टीम इंडिया की जर्सी का रंग क्या होगा। मगर माना जा रहा है कि यह भगवा रंग की होगी और इसके कॉलर पर नीली पट्टी होगी।

इंडिया टुडे की रिपोर्ट के अनुसार, भारतीय टीम इंग्लैंड के खिलाफ बर्मिंघम में होने वाले मुकाबले में यह जर्सी पहनेगी। भारत-इंग्लैंड के बीच यह मुकाबला 30 जून को खेला जाएगा। यहां तक कि अफगानिस्तान ने भी अपनी वैकल्पिक जर्सी जारी कर दी है। इसका मतलब ये भी हो सकता है कि अफगानिस्तान की टीम भारत के खिलाफ नई जर्सी पहनकर उतरे।

यह है कारण 

ऐसा इसलिए है क्योंकि अफगानिस्तान और इंग्लैंड दोनों टीमों के खिलाड़ियों की जर्सी का रंग नीला है। आईसीसी के नियमों के मुताबिक, किसी भी ऐसे मैच में, जिसका प्रसारण टीवी पर होता है, दोनों टीमें एक ही रंग की जर्सी पहनकर नहीं उतर सकती हैं। यह नियम फुटबॉल के 'होम और अवे' मुकाबलों में पहनी जाने वाली जर्सी से प्रेरित होकर बनाया गया है। 

पहली बार होगा ऐसा 

इससे पहले टीम इंडिया ने कभी भी एक से ज्यादा जर्सी का उपयोग नहीं किया है। यह पहली बार है कि टीम दो तरह की जर्सियों के साथ मैच खेलने जा रही है। ओरिजिनल ब्ल्यू की तुलना में इस जर्सी का पिछले हिस्से का रंग नारंगी है। इस सारे मामले की जानकारी रखने वाले एक सूत्र ने कहा कि जैसा कि अधिकांश लोग कह रहे हैं, यह अवे जर्सी नहीं है। यह एक तरह की अल्टरनेट जर्सी है और आईसीसी के खेल के नियमों पर आधारित है। 

इंग्लैंड नहीं बदलेगा अपनी जर्सी

नियम के मुताबिक जो भी देश मेजबान होता है उसे इन मामलों में छूट मिलती है। मेजबान टीम को अपनी पूर्व ‌निर्धारित रंग की जर्सी पहनने की अनुमति होती है। वर्ल्ड कप का मौजूदा सीजन इंग्लैंड में खेला जा रहा है और मेजबान होने के नाते उसे पूर्व निर्धारित नीले रंग की जर्सी पहनने की अनुमति होगी।

दक्षिण अफ्रीका कर चुका है अल्टरनेट जर्सी का प्रयोग

दरअसल, मौजूदा विश्व कप-2019 में इस बार 10 टीमें भाग ले रही हैं। इसमें कुछ टीमों के खिलाड़ियों की दो तरह की जर्सी है। हाल ही में दक्षिण अफ्रीका ने बांग्लादेश के खिलाफ अपनी 'अल्टरनेट जर्सी' (वैकल्पिक जर्सी) का उपयोग किया। इसकी वजह यह रही कि अगर दक्षिण अफ्रीका की अपनी परंपरागत जर्सी के साथ मैच खेलता तो बांग्लादेश और दक्षिण अफ्रीका के खिलाड़ियों की जर्सी एक ही रंग (हरे) की दिखती।





"To get the latest news update download tha app"