यौन शोषण केस में फंसे स्वामी चिन्मयानंद गिरफ्तार, 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा

नई दिल्ली| यौन उत्पीड़न के आरोपी पूर्व केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता चिन्मयानंद को गिरफ्तार कर लिया गया है।एसआईटी की टीम स्वामी चिन्मयानन्द को सुबह ट्रामा सेंटर ले गई थी। ट्रामा सेंटर में स्वामी को दिखाने के बाद गिरफ्तार कर लिया गया।  पीड़िता की ओर से विडियो जारी किए जाने के बाद से चिन्मयानंद की गिरफ्तारी की मांग की जा रही थी। विपक्ष इसको लेकर योगी सरकार और केंद्र सरकार को लगातार कटघरे में खड़ा कर रहा था| स्वामी चिन्मयानन्द को अदालत ने 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है|

खबरों के मुताबिक एसआईटी ने पहले उनका मेडिकल परीक्षण कराया और फिर उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। बुधवार को चिन्मयानंद की खराब तबीयत का हवाला देते हुए उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था। गिरफ्तारी के बाद स्वामी चिन्मयानंद की वकील पूजा सिंह ने बताया कि उनके मुवक्किल को उनके घर से ही गिरफ्तार किया गया है. उन्होंने कहा कि वे न्यायिक प्रक्रिया के मुताबिक अगला कदम उठाएंगी|

बता चले कि शाहजहांपुर में एसएस लॉ कॉलेज में पढ़ाई करने वाली छात्रा के पिता ने पूर्व केंद्रीय मंत्री  स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ 27 अगस्त को एफआईआर दर्ज करवाई थी। कानून की पढ़ाई कर रही 23 साल की एक छात्रा अचानक गायब हो गई थी। इसके बाद चिन्मयानंद के खिलाफ अपहरण और आपराधिक धमकी का मामला दर्ज कराया गया था। इससे जुड़ा एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है| इन आरोपों के सिलसिले में पिछले शुक्रवार को SIT की टीम ने करीब 7 घंटे तक स्वामी चिन्मयानंद से पूछताछ की थी. स्वामी चिन्मयानंद से पुलिस लाइन में स्थित एसआईटी के दफ्तर में पूछताछ की गई थी| छात्रा ने फेसबुक पर वीडियो वायरल कर स्वामी चिन्मयानंद पर कई लड़कियों की जिंदगी बर्बाद करने का आरोप लगाया था। वीडियो वायरल करने के बाद छात्रा रहस्यमय तरीके से तालपता हो गई थी। जिसके बाद छात्रा के पिता ने स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई थी। यौन शोषण के आरोप में गिरफ्तार होने वाले स्वामी चिन्मयानंद का इलाके में काफी रसूख रहा है। चिन्मयानंद भाजपा से तीन बार सांसद रहा चुका है। इतना ही नहीं अटल सरकार में केंद्रीय राज्य मंत्री भी बनाया गया था।

"To get the latest news update download tha app"