पूर्व केंद्रीय मंत्री जयपाल रेड्डी का निधन, कांग्रेस में शोक की लहर

हैदराबाद।

पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के दिग्गज नेता जयपाल रेड्डी का शनिवार देर रात 2 बजकर 30 मिनट पर हैदराबाद में निधन हो गया है। वह लंबे समय से बीमार चल रहे थे। शनिवार देर रात तबीयत ज्यादा बिगड़ने के बाद उन्हें एआईजी अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उन्होंने अंतिम सांस ली। । उनके निधन के बाद कांग्रेस में शोक की लहर है।

जयपाल रेड्डी तेलगू राजनीति में दिग्गज नेता माने जाते रहे हैं। अविभाजित आंध्र प्रदेश में वे 4 बार विधायक रह चुके हैं, वहीं 5 बार वे सांसद चुने गए।जयपाल रेड्डी 77 साल के थे और यूपीए सरकार के दौरान वे कैबिनेट मंत्री रह चुके हैं। उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के कार्यकाल में विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग का कार्यभार संभाला था। 16 जनवरी 1942 को हैदराबाद के मदगुल में जन्मे जयपाल रेड्डी कांग्रेस के कद्दावर नेता के रूप में चर्चित थे। 2009 लोकसभा चुनाव में वह चेवेल्ला सीट से सांसद चुने गए थे। इससे पहले वह 1998 में पूर्व प्रधानमंत्री इंद्र कुमार गुजराल की कैबिनेट में सूचना और प्रसारण मंत्री रह चुके हैं। 

जयपाल रेड्डी का जन्म 16 जनवरी 1942 को हैदराबाद के मदगुल में हुआ था। अब यह तेलंगाना राज्य के अंतर्गत आता है, उनके परिवार में एक बेटी और 2 बेटे हैं। जब इंदिरा गांधी ने देश में इमरजेंसी लागू की थी तो जयपाल रेड्डी ने 1977 में कांग्रेस पार्टी छोड़कर जनता पार्टी का रुख कर लिया था। उन्होंने इंदिरा गांधी के खिलाफ आंदोलन छेड़ रखा था।

कांग्रेस ने ट्वीट कर रेड्डी को श्रद्धांजलि देते हुए लिखा- ‘पूर्व केंद्रीय मंत्री जयपाल रेड्डी के निधन की खबर सुनकर हम दुखी हैं। एक वरिष्ठ कांग्रेसी नेता, उन्होंने 5 बार लोकसभा सांसद, 2 बार राज्यसभा सांसद और 4 बार विधायक के रूप में काम किया। उम्मीद है कि उनके परिवार और दोस्तों को दुःख की इस घड़ी में ताकत मिलेगी।''



"To get the latest news update download tha app"