कैफ़े कॉफ़ी डे के मालिक वीजी सिद्धार्थ का शव नदी किनारे मिला, दो दिन से थे लापता

नई दिल्ली| कैफे कॉफी डे (सीसीडी) के संस्थापक वीजी सिद्धार्थ का शव बुधवार को कर्नाटक के दक्षिण कन्नड़ जिले में नेत्रावती नदी किनारे पर मिला है| सिद्धार्थ कर्नाटक के तटीय शहर मंगलुरु जाने के दौरान रास्ते से सोमवार रात से लापता थे. वहीं उनके द्वारा कथित रूप से लिखे एक पत्र में कहा गया है कि उन पर कर्जदाताओं का ‘भारी दबाव' था| उनका यूं अचानक गायब होना सुर्खियां बन गया था| वी जी सिद्धार्थ ने अपने पत्र में आयकर अधिकारियों के उत्पीड़न को लेकर आरोप लगाया था। 

उनका शव उल्लाल के निकट नदी किनारे आ गया था और स्थानीय मछुआरों ने उसे निकाला। सिद्धार्थ कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री एवं भाजपा नेता एस. एम. कृष्णा के दामाद थे। वह आईटी कंपनी माइंडट्री लिमिटेड में अनियमितताओं को लेकर आयकर विभाग और ईडी के निशाने पर थे। उन्होंने पत्र में माइंडट्री को लेकर आयकर विभाग की उत्पीड़न का भी जिक्र किया था। वीजी सिद्धार्थ के लापता होने के बाद से ही पुलिस प्रशासन द्वारा उन्हें खोजने के लिए युद्ध स्तर पर अभियान चलाया गया था। उनके ड्रायवर और मछुआरे के बयान के बाद पुलिस की जांच पूरी तरह से नदी में खोजने पर केंद्रीय हो गई थी। उन्हें खोजने के लिए NDRF, होमगार्ड, फायर ब्रिगेड सहित अन्य अमला उनकी खोज के लिए पुल के नीचे नेत्रावती नदी के पानी में तलाश रहा था। 

वी. जी. सिद्धार्थ भारत में कॉफी रेस्तरां के सबसे बड़े चेन ‘कैफे कॉफी डे' के संस्थापक थे| सिद्धार्थ कर्नाटक के पहले इंटरप्रेन्योर थे जिन्होंने 1996 में सीसीडी की स्थापना की थी. अब सीसीडी देश का सबसे बड़ा कॉफी चेन बन चुका थे. देश के 209 शहरों में इसका जाल फैला था, मंगलुरु विश्वविद्यालय से इकोनॉमिक्स में मास्टर्स करने वाले सिद्धार्थ ने पूर्व विदेश मंत्री एसएम कृष्णा की बेटी से शादी की|

"To get the latest news update download tha app"