पूर्व सीएम की तबीयत अचानक बिगड़ी, मेंदाता में भर्ती करवाया

रायपुर।

गुरुवार देर रात छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री की तबियत अचानक बिगड़ गई है। जिसके बाद उन्हें आनन-फानन में गुरुग्राम  स्थित मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बताया जा रहा है कि जोगी को सांस लेने में तकलीफ हो रही थी इसके बाद उन्हें तत्काल अस्पताल ले जाया गया।फिलहाल डॉक्टरों ने उन्हें स्पेशल ऑब्जेर्वशन में रखा है ।कहा जा रहा है कि जोगी कई दिनों से टेंशन में भी चल रहे है। बेटे की गिरफ्तारी और जाति प्रमाण पत्र मामले ने उनकी चिंता बढ़ा दी है।

जानकारी के अनुसार, पूर्व मुख्यमंत्री और जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के सुप्रीमो अजीत जोगी अपने रुटीन चेकअप के लिए इन दिनों दिल्ली प्रवास पर हैं। वह छत्तीसगढ़ भवन में रुके हुए थे। देर रात तक वह अपने ऊपर दर्ज एफआईआर के मामले में पत्रकारों से बात करते रहे। इसके करीब एक घंटे बाद रात 12 बजे अचानक उन्हें सांस लेने में दिक्कत होने लगी। इसके बाद उन्हें मेदांता अस्पताल ले जाया गया।   बताया जा रहा है कि उनकी तबियत कल रात अचानक बिगड़ गयी थी। सीने में हल्का दर्द और सांस लेने में दिक्कत की शिकायत की वजह से उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उनके साथ उनकी पत्नी रेणु जोगी मौजूद हैं। 

 बता दें कि अजीत जोगी के खिलाफ जाति प्रमाणपत्र मामले में गुरुवार रात ही गैरोला थाने में एफआईआर दर्ज कराई गई है। शिकायत मरवाही विधानसभा की पूर्व विधायक प्रत्याशी व जिला पंचायत सदस्य समीरा पैकरा ने दिया है। पैकरा ने तत्कालीन तहसीलदार पतरस तिर्की के शपथ पत्र के आधार पर केस दर्ज कराया है। तिर्की का दावा है कि जोगी का प्रमाण-पत्र उन्होंने कभी जारी नहीं किया और जो उनके हस्ताक्षर हैं वे भी उनके नहीं है।वर्ष 2013 के विधानसभा चुनाव के दौरान मरवाही विधानसभा क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी की प्रत्याशी रही समीरा पैकरा की शिकायत पर पुलिस ने यह मामला दर्ज किया है।इसके पहले दो सितंबर को उनके बेटे अमित जोगी को पुलिस ने गिरफ्तार किया था। पूर्व विधायक अमित जोगी को धोखाधड़ी के मामले में गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने मरवाही सदन से उन्हें गिरफ्तार किया। इस दौरान जोगी के बंगले पर भारी संख्या में उनके समर्थक भी मौजूद रहे। समर्थकों ने पुलिस और प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की थी।


"To get the latest news update download tha app"