स्वतंत्रता दिवस से पहले आतंकी हमले का ALERT, देश के 19 एयरपोर्ट्स की बढ़ाई गई सुरक्षा

नई दिल्ली। स्वतंत्रता दिवस और जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद देश में सुरक्षा को लेकर कड़े इंतजाम किये गए हैं| वहीं पाकिस्तान में मौजूद आतंकी संगठन भारत में हमले करवाने की साजिशों में जुट गए हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पाकिस्तानी आतंकी संगठन जम्मू और कश्मीर के साथ-साथ मुंबई जैसे बड़े शहरों को भी निशाना बनाने की ताक में लग गए हैं। भारतीय खुफिया एजेंसियों ने इस बारे में सरकार को अलर्ट किया है। वहीं ब्यूरो ऑफ सिविल एविएशन ने देश के 19 एयरपोर्ट्स पर आतंकी हमले की आशंका के चलते सुरक्षा बढ़ा दी है। 

जानकारी के अनुसार यह अलर्ट दिल्ली, मुंबई, हैदराबाद, बेंगलुरु, इंफाल, चेन्नई, कोलकाता, अमृतसर, तिरुवनंतपुरम, रायपुर, जयपुर, लखनऊ, श्रीनगर, पटना, गुवाहाटी, भोपाल, भुवनेश्वर, देहरादून और अहमदाबाद एयरपोर्ट्स पर जारी किया गया है। दिल्ली के इंदिरा गांधी एयरपोर्ट पर सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर घरेलू उड़ान के लिए यात्रियों को कम से कम 3 घंटे पहले एयरपोर्ट पहुंचे के निर्देश दिए गए हैं। वहीं अन्तरराष्ट्रीय उड़ान के लिए यात्रियों को 4 घंटे पहले एयरपोर्ट पहुंचना होगा।  

यात्रियों को छोड़ने वालों का नहीं मिलेगा प्रवेश 

ब्यूरो ऑफ सिविल एविएशन ने अपने पत्र में कहा है कि सिविल एविएशन सेक्टर को लगातार खतरे को देखते हुए केंद्रीय सुरक्षा एझेंसियों से मिली जानकारी के अनुसार यह जरूरी है कि सभी सिविल एविएशन संस्थानों जिनमें एयरपोर्ट्स, फ्लाइंग स्कूल्स और एयरफील्ड्स व अन्य की सुरक्षा को बढ़ाया जाए ताकि कोई अनचाही घटना ना हो। वहीं इनपुट्स पर कार्रवाई करते हुए, हवाई अड्डों पर सुरक्षा को बढ़ा दिया गया है, 10 से 20 अगस्त तक एक विशेष व्यवस्था लागू की गई है और इसके तहत यात्रियों से मिलने और उन्हें छोड़ने आने वालों के प्रवेश पर प्रतिबंध रहेगा। वहीं यात्रियों के सामान की पूरी जांच के बाद वैध टिकट के साथ यात्रियों के प्रवेश की अनुमति दी गई है। 

कई राज्यों में हाई अलर्ट: रिपोर्ट 

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तानी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद भारत में आतंकी हमले का प्लान कर रहा है और वह भारतीय सेना, पुलिस के जवानों और कई अहम ठिकानों को अपना निशाना बना सकते हैं| खुफिया एजेंसियों के इस इनपुट के बाद कई राज्यों में भी हाई अलर्ट घोषित किया गया है. दिल्ली, राजस्थान, पंजाब, गुजरात, महाराष्ट्र, कर्नाटक और आंध्र प्रदेश जैसे कई राज्यों को जैश-ए-मोहम्मद अपना निशाना बना सकता है|

"To get the latest news update download tha app"