राजस्थान: राम कथा के दौरान आंधी-तूफान में गिरा पंडाल, 14 की मौत, 50 जख्मी

जयपुर। राजस्थान के बाड़मेर जिले में रविवार को रामकथा के दौरान आंधी तूफान से पंडाल गिर गया। इस हादसे में 14 लोगों की मौत हो गई, जबकि 50 के करीब जख्मी बताए जा रहे हैं। हादसा शाम 4:30 के आसपास हुआ। घायलों को पास के ही अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक बाड़मेर के स्थानीय लोग यहां राम कथा सुनने के लिए जमा हुए थे। 

रिपोर्ट के मुताबिक, जिले के जसोल क्षेत्र में रामकथा का कार्यक्रम चल रहा था। इस दौरान इलाके में तेज़ आंधी और तूफान के आने से पंडाल उखड़ा गया। पंडाल के नीचे बैठे लोगों इस हादसे का शिकार हो गए। एएसपी खिनव सिंह के मुताबिक प्ररंभिक तौर पर मौत का कारण करंट लगना बताया जा रहा है। हालांकि, अभी इसकी पुष्टि होना बाकी है। उन्होंने कहा कि बारिश होने से करंट फैल गया। जिससे कई लोगों की मौत हुई है वहीं, कई जख्मी भी हुए हैं। हादसे का एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें कथावाचक मुरलीधर लोगों से पंडाल खाली करने के लिए कह रहे हैं। हालांकि, कुछ ही सेकंड्स में पूरा पंडाल गिर जाता है। स्थानीय लोगों ने कई घायलों को निजी वाहनों से अस्पताल पहुंचाया।

प्रधानमंत्री और सीएम ने  घटना पर दुख जताया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्विट कर इस घटना पर दुख व्यक्त किया है। उन्होंने लिखा है कि राजस्थान के बाड़मेर में पंडाल गिरने की घटना काफी दुखद है। मेरी संवेदनाएं शोक संतप्त परिवारों के साथ हैं और मैं घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना करता हूं। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने लिखा है कि, जसोल,बाड़मेर में राम कथा के दौरान टेंट गिरने से हुए हादसे में बड़ी संख्या में लोगों की जान जाने की जानकारी अत्यंत दुखद, दुर्भाग्यपूर्ण है।ईश्वर से दिवंगतों की आत्मा को शांति प्रदान करने,शोकाकुल परिजनों को सम्बल देने की प्रार्थना है। घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना करता हूँ।


"To get the latest news update download tha app"