राहुल गांधी ने दिया इस्तीफा, 4 पन्नों का पत्र लिखकर कहा-'हार के लिए मैं जिम्मेदार'

नई दिल्ली|   कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गाँधी ने अपने पद से आखिरकार इस्तीफा दे दिया है| अब तक उनके इस्तीफे को लेकर लगातार खबरे आ रही थी, जिन्हे पार्टी नेता ख़ारिज कर रहे थे| लेकिन अब राहुल गाँधी ने अपना इस्तीफ़ा सार्वजानिक कर दिया है| उन्होंने एक ओपन लेटर भी जारी किया है| इस ओपन लेटर में राहुल गांधी ने लिखा, 'कांग्रेस पार्टी के लिए काम करना मेरे लिए सम्मान की बात थी'. उन्होंने पत्र में 2019 के लोकसभा चुनावों में पार्टी को मिली हार का जिक्र करते हुए लिखा 'अध्यक्ष के नाते हार के लिए मैं जिम्मेदार हूं. इसलिये अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे रहा हूं'. उन्होंने आगे लिखा, पार्टी को जहां भी मेरी जरूरत पड़ेगी मैं मौजूद रहूंगा|

पार्टी की सेवा करना मेरे लिए गर्व का विषय, हार की जिम्मेदारी लेता हूँ 

राहुल गांधी ने अपने इस्तीफे को लेकर एक खुला पत्र लिखा है| इस पत्र को राहुल गांधी ने ट्वीट भी किया है| राहुल गाँधी ने लिखा कि लोकसभा चुनाव में पार्टी को मिली हार की मैं जिम्मेदारी लेता हूं| हमारी पार्टी के विकास के लिए जवाबदेही महत्वपूर्ण है. इस कारण से मैंने कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है| उन्होंने आगे लिखा कि कांग्रेस अध्यक्ष पद पर रहना मेरे लिए गर्व की बात है| राहुल गांधी ने लिखा कि कांग्रेस पार्टी की सेवा करना मेरे लिए गर्व का विषय है जिस पार्टी की नीतियां और सिद्धातों से देश का विकास हुआ है. मैं देश और पार्टी से मिले प्यार के लिए आभारी हूं| राहुल गांधी ने लिखा, 'कांग्रेस अध्यक्ष के तौर पर 2019 में मिली हार के लिए मैं जिम्मेदार हूं. हमारी पार्टी के भविष्य के लिए जवाबदेही जरूरी है. यही कारण है कि मैं अपने पद से इस्तीफा दे रहा हूं|

मैं अब अध्यक्ष नहीं, पार्टी जल्द चुनाव करे 

इससे पहले राहुल गांधी ने बुधवार को साफ कर दिया कि वे अब कांग्रेस अध्यक्ष नहीं हैं। उन्होंने कहा कि पार्टी को बिना देर करे, अब जल्द से जल्द नया अध्यक्ष चुनना चाहिए। इससे पहले कांग्रेस शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों अशोक गहलोत और कमलनाथ ने राहुल गांधी के साथ मुलाकात कर उन्हें अपने पद पर बने रहने की अपील की थी लेकिन राहुल नहीं माने, वहीं देश भर से कांग्रेस कार्यकर्ता मांग कर रहे हैं कि राहुल गांधी कांग्रेस अध्यक्ष के पद पर बने रहें| इसी मांग को लेकर कांग्रेस कार्यकर्ता पार्टी मुख्यालय के बाहर धरने पर बैठे थे| बुधवार को राहुल गाँधी ने एक बयान में कहा कि, 'पार्टी बिना किसी देरी के जल्द से जल्द नए अध्यक्ष का चुनाव करे। मैं इस पूरी प्रक्रिया का हिस्सा नहीं हूं। मैंने पहले ही अपना इस्तीफा सौंप दिया है और अब मैं पार्टी का अध्यक्ष नहीं हूं। कांग्रेस वर्किंग कमेटी जल्द बैठक कर नया अध्यक्ष चुने।'  बता दें कि 23 मई को चुनाव नतीजे आने के बाद राहुल गांधी ने कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में इस्तीफे की पेशकश कर दी थी| राहुल गाँधी का यह भी कहना है कि पार्टी को नया अध्यक्ष चुनने में काफी देर हो रही है| पार्टी को जल्द से जल्द वर्किंग कमेटी की बैठक बुलाकर इस पर फैसला करना चाहिए, साथ ही उनका कहना है कि इस प्रक्रिया का वह हिस्सा नहीं रहेंगे|  उन्होंने कहा कि वर्किंग कमेटी की बैठक कब बुलाई जाएगी, ये भी समिति के सदस्य ही तय करेंगे, मैं बैठक नहीं बुलाउंगा| 


"To get the latest news update download tha app"