पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, भूपेन हजारिका और नानाजी देशमुख भारत रत्न से सम्मानित

नई दिल्ली| राष्ट्रपति भवन में गुरुवार को राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, जनसंघ के नेता नानाजी देशमुख और प्रख्‍यात गायक भूपेन हजारिका को मरणोपरांत देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से सम्मानित किया| इस साल भारत रत्न सम्मान देने का ऐलान गणतंत्र दिवस पर किया गया था. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने तीनों हस्तियों को भारत रत्न से सम्मानित किया|

प्रणब मुखर्जी का राजनीतिक सफर 5 दशक का रहा है और इस दौरान उन्होंने कईं महत्वपूर्ण पदों को संभाला। इंदिरा गांधी के समय भी वो कईं महत्वपूर्ण मंत्रालयों की जिम्मेदारी संभालते रहे। साथ ही उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री पीवी नरसिम्हा राव और मनमोहन सिंह के कार्यकाल में भी सेवाएं दीं।भूपेन हजारिका को मरणोपरांत यह सम्मान मिला| उनके बेटे तेज हजारिका ने अपने पिता के लिए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के हाथों सम्मान ग्रहण किया|

नानाजी देशमुख की ओर से दीनदयाल रिसर्च इंस्टीट्यूट के चेयरमैन वीरेंद्रजीत सिंह ने यह सम्मान ग्रहण किया| नानाजी देशमुख भारतीय जनसंघ के विचारक और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के संस्थापक सदस्यों में से एक रहे हैं, तो वहीं भूपेन हजारिका प्रसिद्ध असमिया कवि और संगीतकार थे. नानाजी देशमुख और भूपेन हजारिका को यह सम्मान मरणोपरांत मिला है|


"To get the latest news update download tha app"