पूर्व सांसदों को सात दिनों में बंगला खाली करने का फ रमान!

 दिल्ली। केंद्र सरकार ने पूर्व सांसदों को सात दिनों के अंदर बंगला खाली करने का आदेश जारी किया है। करीब 200 निवर्तमान सांसद हैं, जो सरकारी आवास खाली करने में आनाकानी कर रहे हैं। आवास समिति के अध्यक्ष सीआर पाटिल ने बताया कि सभी पूर्व सांसदों को एक हफ्ते का समय दिया गया है। अगर वह अपना-अपना आवास खाली नहीं करते तो उन पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। वहीं आवास समिति ने अधिकारियों ने बताया कि तीन दिनों बाद इनके आवास की बिजली और पानी के कनेक्शन भी काट दिए जाएंगे।

प्रावधानों के मुताबिक लोकसभा में हार चुके सांसदों को एक महीने के भीतर ही अपने निवास को खाली कर देना चाहिए। लेकिन 2014 में आवंटित बंगले को इन पूर्व सांसदों ने खाली नहीं किया। वहीं 17वीं लोकसभा चुनाव जीतकर आए सांसदों को राजधानी में अस्थायी निवास में रहना पड़ रहा है। हालांकि नव-निर्वाचित सांसदों को वेस्टर्न कोर्ट में अस्थायी आवास उपलब्ध कराए गए हैं, लेकिन उन्हें लुटियंस दिल्ली में पूर्णकालिक आवास आवंटित किया जाना जरूरी है। कई अतिथि गृहों या अपने राज्यों के भवनों में भी रुके हुए हैं। हालांकि जब तक स्थायी निवास नहीं मिल जाता तब तक नव-निर्वाचित सांसदों को यहां पांच-सितारा होटलों में भी रुकने का अधिकार है। बता दूं कि लोकसभा में पहली बार चुनकर आए कई युवा सांसदों को भी घर की दरकार है, क्योंकि कई सेलिब्रिटी भी चुनाव जीतकर संसद पहुंचे हैं, उन्हें कई परेशानियां उठानी पड़ रही हैं।

"To get the latest news update download tha app"