संसद का बजट सत्र शुरू,प्रोटेम स्पीकर वीरेन्द्र खटीक ने PM को दिलाई शपथ, गूंजे मोदी मोदी के नारे

नई दिल्ली।

17वीं लोकसभा का पहला बजट सत्र आज यानी सोमवार से शुरू हो रहा है। इस दौरान संसद में केंद्रीय बजट पारित किया जाएगा।लेकिन इससे पहले राष्ट्रपति ने प्रधानमंत्री और अन्य सांसदों की मौजूदगी  एमपी के टीकमगढ़ से भाजपा सांसद वीरेंद्र कुमार को प्रोटेम स्पीकर की शपथ दिलवाई। अब प्रोटेम स्पीकर लोकसभा में जाकर नवनिर्वाचित सांसदों को शपथ दिलवा रहे है।अगले दो दिनों में सभी 542 सांसदों को शपथ दिलाई जाएगी।इसके पहले सदन की कार्यवाही की शुरुआत राष्ट्रगान के साथ हुई और इसके बाद सदन में 2 मिनट का मौन भी रखा गया है।  सबसे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सांसद सदस्य के तौर पर शपथ ली। इस दौरान सदन में मोदी-मोदी के नारे गूंजते रहे।इसके बाद राजनाथ सिंह , अमित शाह , नीतीन गडकरी, नरेंद्र सिंह तोमर, हरसीमरत कौर, रमेश पोखरियाल, अर्जुन मुंडा, स्मृति ईरानी आदि ने सदस्यता ग्रहण की।

बता दे कि इस बार एमपी से बीजेपी के 28  सांसद चुने गए है, केवल एक छिंदवाड़ा लोकसभा सीट से कांग्रेस सांसद नकुलनाथ ने जीत हासिल की है।

दरअसल,  लोकसभा की कार्यवाही शुरू होने से पहले नियम के अनुसार सबसे पहले सदन का नेता शपथ ग्रहण करता है। इस हिसाब से प्रधानमंत्री मोदी सबसे पहले संसद की सदस्यता की शपथ लेंगे इसके बाद दूसरे सदस्य शपथ ग्रहण करेंगे। जब तक सभी सदस्यों की शपथ नहीं हो जाती तब तक सदन में कोई कार्रवाई नहीं होगी। अगले दो दिनों तक सदन में केवल शपथ ग्रहण का कार्यक्रम होगा और उसके बाद स्पीकर का चुनाव होगा।बुधवार को नए लोकसभा अध्यक्ष का चयन होगा, राष्ट्रपति बृहस्पतिवार को दोनों सदनों के संयुक्त बैठक को संबोधित करेंगे। सुत्रों की माने तो  सदन में पीएम मोदी और उनके मंत्रियों के बाद यूपीए की चेयरपर्सन सोनिया गांधी शपथ ले सकती हैं। दरअसल, सदन का परंपरा रही है कि मंत्रीमंडल के बाद सदन के वरिष्ठतम सांसद शपथ लेते हैं। 2014 में लालकृष्ण आडवाणी और सोनिया गांधी ने शपथ ली थी। इस बार आडवाणी चुनाव नहीं लड़े और इस वजह से सोनिया गांधी ही शपथ लेंगी।

कौन है वीरेन्द्र खटीक

आपको बता दे कि वीरेंद्र कुमार खटीक दलित समुदाय से आते हैं और लो प्रोफाइल नेता के तौर पर उनकी पहचान रही।खटीक पूर्व केंद्रीय मंत्री भी रहे हैं। साथ ही वह टीकमगढ़ से छह बार से सांसद हैं। बचपन से ही आरएसएस से जुड़े खटीक को सागर और टीकमगढ़ क्षेत्र में सादगी के लिए जाना जाता है। कई बार वह आने-जाने के लिए लिफ्ट लेते हुए भी दिखाई दिए हैं। हाल के चुनाव में वो कांग्रेस प्रत्याशी किरण अहिरवार को हराकर संसद पहुंचे हैं। 

क्या होता है प्रोटेम स्पीकर

प्रोटेम स्पीकर का पद कुछ समय के लिए होता है। इनकी नियुक्ति राष्ट्रपति के द्वारा की जाती है। आमतौर पर प्रोटेम स्पीकर की नियुक्ति तब तक के लिए होती है, जब तक लोकसभा या विधानसभा अपना स्थाई अध्यक्ष नहीं चुन लेती है। प्रोटेम स्पीकर ही नवनिर्वाचित सांसदों को शपथ दिलवाते हैं। सांसदों के शपथ के बाद ही लोकसभा स्पीकर का चुनाव होता है। संसदीय परंपरा के अनुसार राष्ट्रपति सदन में वरिष्ठतम सदस्यों में से किसी एक को प्रोटेम स्पीकर के लिए चुनते हैं।नए स्पीकर के चुनाव के बाद प्रोटेम स्पीकर का काम समाप्त हो जाता है।

नंबर की चिंता छोड़े विपक्ष: PM

इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बोले ने कहा कि चुनाव के बाद 17वीं लोकसभा का सत्र शुरू हो रहा है। यह नए साथियों के साथ परिचय करने का एक सुनहरा अवसर है। मैं आशा करता हूं कि विपक्ष के लोग नंबर की चिंता छोड़कर निष्‍पक्ष भाव से जनकल्‍याण को प्राथमिकता देते हुए इस सदन की गरिमा को ऊपर उठाने की कोशिश करेंगे। यह चुनाव अनेक विशेषताओं से भरा रहा। कई दशकों के बाद एक पूर्ण बहुमत की सरकार को जनता ने दोबारा सेवा करने का अवसर दिया है। 17वीं लोकसभा हम सभी एक साथ चलेंगे। हमारे लिए विपक्ष का एक एक शब्‍द मूल्‍यवान है। लोकतंत्र में विपक्ष का सक्रिय होना जरूरी है। विपक्ष से उम्‍मीद है कि वह एक सकारात्‍मक भूमिका निभाएगा। 

40  दिन तक चलेगा यह सत्र

लोकसभा का पहला सत्र आज 17 जून से शुरूहो गया है ।इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली नई सरकार अपना पहला बजट पांच जुलाई को संसद में पेश करेगी। संसद का यह सत्र 40 दिनों तक चलेगा और और इसमें 30 बैठकें होंगी। संसद सत्र के पहले दो दिनों के दौरान नवनिर्वाचित सदस्यों को शपथ दिलाई जाएगी। लोकसभाध्यक्ष का चुनाव 19 जून होगा।यह मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला बजट होगा और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा बजट पेश किया जायेगा। वित्त वर्ष 2019-20 के लिए अंतरिम बजट तत्कालीन वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने एक फरवरी 2019 को पेश किया था।

मध्य प्रदेश से लोकसभा के लिए चुने गए 29 सदस्य-

सागर सीट से भाजपा के राजबहादुर सिंह

दमोह सीट से भाजपा के प्रहलाद सिंह पटेल

खजुराहो सीट से भाजपा के विष्णुदत्त शर्मा

शहडोल सीट से भाजपा की हिमाद्री सिंह

बालाघाट सीट से भाजपा के ढाल सिंह बिसेन

छिंदवाड़ा से कांग्रेस नकुलनाथ

विदिशा सीट से भाजपा के रमाकांत भार्गव

भोपाल सीट से भाजपा की प्रज्ञा सिंह ठाकुर

देवास सीट से भाजपा के महेंद्र सिंह सोलंकी

उज्जैन सीट से भाजपा के अनिल फिरौजिया

रतलाम सीट से भाजपा के गुमान सिंह डामोर

इंदौर सीट से भाजपा के शंकर ललवानी

खरगौन सीट से भाजपा के गजेंद्र उमराहो सिंह

बेतूल सीट से भाजपा के दुर्गा दास

इनमें से ढाल सिंह बिसेन, दुर्गा दास उइके, संध्या राय, महेंद्र सिंह सोलंकी, विवेक नारायण शेलवल्कर, हिमाद्री सिंह अन्य प्रमुख चेहरे हैं, जो अपनी सीटों पर जीत दर्ज कर पहली बार लोकसभा पहुंचे हैं।

"To get the latest news update download tha app"