सुसाइड नोट लिखकर गायब हुआ आरक्षक, पत्नी और प्रेमी पर प्रताड़ना के आरोप

रायसेन|दिनेश यादव| मध्यप्रदेश के रायसेन जिले के सांची थाने में पदस्थ आरक्षक शैलेंद्र शाक्य का सुसाइड नोट सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, वहीं आरक्षक लापता है, इस नोट में आरक्षक ने अपनी पत्नी और उसके प्रेमी पर प्रताड़ना का आरोप लगाया है। मामला सामने आने के बाद पुलिस आरक्षक की तलाश में जुटी हुई है| शैलेन्द्र ने अपनी पत्नी और प्रेमी के कई फोटो को वायरल किया है।

जिले के साँची थाने में पदस्थ आरक्षक शैलेन्द्र शाक्या अचानक लापता हो गया है| पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक बैरसिया निवासी आरक्षक शैलेन्द्र शाक्य पहले उमरावगंज थाने में पदस्थ था। तबादलेे के बाद 27 जुलाई को उसने सांची थाने में ज्वानिंग दी। वह सांची में अकेला रहता है। आरक्षक ने सोमवार रात में नाइट ड्यूटी भी की थी और सुबह 10.30 से 11 बजे तक थाने में मौजूद था। इसके बाद वह चला गया। कुछ देर बाद वॉट्सएप ग्रुप पर इस आरक्षक ने आत्महत्या करने संबंधी पोस्ट डाली। इसके बाद पुलिसकर्मियों को उसके घर पर भेजा, लेकिन वह घर पर नहीं मिला। उसका मोबाइल भी बंद आ रहा है। पुलिस शैलेन्द्र की तलाश में जुटी हुई है| 

लापता आरक्षक का एक पत्र सोशल मीडिया में वायरल हुआ, जिसमें उसने प्रताड़ना का आरोप लगाया है।  आरक्षक शैलेंद्र बैरसिया के ग्राम कुल्होर का रहने वाला है। आरक्षक शैलेंद्र गायब होने से पहले तीन पेज का एक सुसाइट नोट अपने दोस्तों के नाम लिखकर चला गया है। इस सुसाइट नोट में आरक्षक शैलेंद्र शाक्या ने लिखा है कि दोस्तों में स्वयं की मर्जी से आत्महत्या करने जा रहा हूं, जिसकी जिम्मेदारी मेरी पत्नी और उसके प्रेमी की होगी। इन दोनों ने मेरी जिंदगी बर्बाद कर दी है। मेरी शादी 1 मई 2018 को हुई थी। पूर्व से ही मेरी पत्नी और उसके प्रेमी का प्रेम प्रसंग चल रहा था। हमारा 14 फरवरी 2019 को तलाक हुआ। यह सब होने के बाद भी जुलाई माह से निरंतर मेरी पत्नी और उसका प्रेमी द्वारा मेरी झूठी शिकायतें की जा रही है और मुझे कई बार धमकी दी गई हैं। इस तरह की कई बातें सुसाइट नोट में लिखी हैं। वहीं सुसाइट नोट के अंतिम पेज पर लिखा है आई लव यू माय फै मिली, सॉरी। मेरे दोस्त तुम अच्छे वकील हो, मुझे न्याय दिलवा देना। यह सुसाइट नोट सोशल मीडिया पर भी वायरल किया गया है।  

इस पत्र में शैलेन्द्र ने लिखा है पत्नी का प्रेमी जिग्नेश राठौर नजीराबाद थाने में पदस्थ है। शैलेन्द्र ने अपनी पत्नी और प्रेमी के फोटो को वायरल किया है| आरक्षक ने पत्नी और प्रेमी को रंगे हाथ अश्लील हालत में पकड़ लिया था, उसके बाद पंचायत की मर्जी से दोनों के बीच तलाक  हो गया था ।   बताया गया कि आरक्षक शैलेंद्र शाक्य ने मामले की शिकायत डीजीपी और भोपाल जोन के आईजी से भी की थी, लेकिन किसी ने कार्रवाई नहीं की।  

"To get the latest news update download tha app"