ट्रांसपोर्टर्स की हड़ताल से एक्शन में आई सरकार, कलेक्टरों को किया अलर्ट

भोपाल।  मध्य प्रदेश में ट्रांसपोर्टर की हड़ताल लगातार जारी रहने से अब सरकार अलर्ट मोड पर आ गई है। त्योहारी समय में किसी भी तरह की कोई कमी न हो इसके लिए सरकार ने कलेक्टरों को अलर्ट कर दिया है। परिवहन और खाद्य नागरिक आपूर्ति विभाग ने प्रदेश के सभी कलेक्टरों को निर्देश दिए हैं कि वह हर तरह की परिस्तिथि से निपटने के लिए तैयार रहें। विभाग की ओर से जारी निर्देश में कहा गया है कि आवश्यक सामग्रियों की आपूर्ति बाधित नहीं होनी चाहिए। 

खाद्य, नागरिक आपूर्ति विभाग की प्रमुख सचिव नीलम शमी राव ने आदेश जारी कर कहा कि आवश्यक वस्‍तु अधिनियम के प्रावधानों के तहत पेट्रोल-डीजल एवं गैस एजेंसी डीलरों के लिये आवश्यक वस्तुओं की पर्याप्त उपलब्धता बनाये रखने की बाध्यता है। उन्होंने कहा कि यदि किसी डीलर द्वारा पर्याप्त उपलब्धता नहीं बनाई रखी जाती है, तो उसके विरूद्ध आवश्यक कानूनी कार्रवाई की जायेगी। राव ने कहा कि डीजल-पेट्रोल और एलपीजी डीलरों के लिये शत-प्रतिशत स्टॉक की उपलब्धता सुनिश्चित रखना अनिवार्य है। उन्होंने कहा कि ऑयल कम्पनियों द्वारा एलपीजी और पेट्रोल उत्पादों की आपूर्ति निरंतर की जा रही है। जिला कलेक्टर्स को इन कम्पनियों को पर्याप्त सुरक्षा मुहैया कराने के लिये कहा गया हैं। आवश्यक वस्तुओं के मूल्यों पर भी निगरानी रखने की सलाह दी गई है

खाद्य मंत्री की ट्रान्सपोर्टर्स से अपील

मंत्री प्रद्युमन सिंह तोमर ने ट्रक-ट्रान्सपोर्टर्स यूनियन के पदाधिकारियों से अपील की है कि दीवाली जैसे त्यौहार को दृष्टिगत रखते हुए अपनी हड़ताल जनहित में समाप्त करें। उन्होंने कहा कि इससे आम उपभोक्ता को होने वाली परेशानियों से निजात मिल सकेगी।

"To get the latest news update download tha app"