सिंधिया का दिखा अलग अंदाज, मराठी ढोल की थाप पर दी दशहरे की बधाई

ग्वालियर। राजनीति में हमेशा व्यस्त रहने वाले कांग्रेस महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया दशहरे पर हमेशा ग्वालियर में होते हैं। यहाँ वो अपनों के बीच दशहरा मिलन समारोह में शामिल होते है। इस बार भी वे ग्वालियर में थे वे अपने समाज के बीच पहुंचे । सिंधिया कार्यक्रम में शामिल ही नहीं हुए बल्कि उन्होंने ढोल पर थाप भी दी।

ज्योतिरादित्य सिंधिया इस बार 9 दिवसीय दौरे पर 7 अक्टूबर से 15 अक्टूबर तक ग्वालियर चम्बल संभाग के दौरे पर हैं। ग्वालियर में वे दशहरा मिलन  समारोह सहित कई सार्वजनिक कार्यक्रमों में शामिल हुए। सिंधिया शिवाजी भवन कंपू में आयोजित मराठा समाज के दशहरा मिलन समारोह में शामिल हुए। राजनीति से दूर  अपनों के बीच पहुंचे सिंधिया बहुत खुश दिखाई दे रहे थे। अपनी मात्रभाषा  मराठी में उन्होंने सभी को ना सिर्फ दशहरे की शुभकामनायें दी बल्कि मराठा समाज का गौरवशाली इतिहास भी बताया। सिंधिया के स्वागत के लिए समाज के महिला और पुरुषों ने ढोल और लेजम डांस किया। खुबसूरत संगीत और आकर्षक नृत्य के बीच सिंधिया खुद को रोक नहीं सके और उन्होंने ढोल पर खूब थाप दी। सिंधिया ने इस मौके पर कहा कि मेरा और आपका सम्बन्ध पारिवारिक है में यहाँ मुख्य अतिथि बनकर नहीं परिवार के सदस्य के रूप में आया हूँ। आपके पूर्वजों को मेरे पूर्वज महाराष्ट्र से ग्वालियर लेकर आये थे और तभी से हम एक परिवार के रूप में हैं। आपको जब भी मेरी जरुरत पड़े मैं हमेशा आपके साथ खड़ा मिलूँगा।


"To get the latest news update download tha app"