मिनरल वाटर के नाम पर बेच रहे थे गंदा पानी, बेचने पर लगाई रोक, प्लांट भी सील

भोपाल।

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल के हिमालय मिनरल वाटर प्लांट को  खाद्य एवं औषधि प्रशासन के अफसरों ने  जांच के बाद सील कर दिया।बताया जा रहा है कि प्लांट में बिना रेजिस्ट्रेशन और लाइसेंस के मिनरल पानी की पैकिंग की जा रही थी।वही जिस टैंक में पानी को स्टेार किया गया था उसमें काफी गंदगी थी, उसमें काई की परत भी जमी हुई थी। जिसके चलते पानी के बेचने पर भी रोक लगा दी है।

जानकारी के अनुसार, मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में बिना रेजिस्ट्रेशन और लाइसेंस के मिनरल पानी की पैकिंग करने वाले हिमालय मिनरल वाटर प्लांट को जिला प्रशासन ने सील कर दिया है।राजधानी के एयरपोर्ट रोड पर स्थित पंचवटी कॉलोनी में हिमालय वाटर प्लांट में 20 लीटर मिनरल पानी की जार में पैकिंग की जा रही है। प्लांट में मिनरल वाटर सप्लाई के मानक पूरे नहीं हाेने पर जिला प्रशासन के जांच दल ने प्लांट को सील कर दिया है। इसके साथ ही पानी के बेचने पर भी रोक लगा दी है।

इस प्लांट के संचालक भरत वासवानी हैं। कैनों पर मिनरल वाटर का लोगो लगा हुआ था। संचालक ने न तो खाद्य एवं औषधि प्रशासन से लाइसेंस लिया था और न ही इसका कोई रजिस्ट्रेशन कराया था। यहां पर लगाए गए आरओ प्लांट से रोजाना 400 कैन पानी की सप्लाई एयरपोर्ट के आसपास की जा रही थी। 

खाद्य सुरक्षा अधिकारियों ने बताया कि यहां से रोजाना 40 रुपए की दर से एक कैन 20 लीटर पानी सप्लाई की जाती थी। जांच टीम ने जांच में पाया कि संचालक यहां पर घर में बने एक टैंक में पानी को स्टोर करने के बाद आरओ से फिल्टर कर कैन के माध्यम से बेचने का काम करता है। लेकिन टैंक की सफाई लंबे समय से नहीं कराई गई थी, इसके अलावा भी कई अन्य प्रकार की गड़बड़ी यहां पर मिलने पर इसे सील कर दिया गया है। 

"To get the latest news update download tha app"