बाइक कैब कंपनी के संचालकों पर शिकंजा, लगेगा जुर्माना

भोपाल। राजधानी में परिवहन आयुक्त के निर्देश पर बीते दिनों अवैध रूप से संचालित हो रही बाइक टैक्सियों के खिलाफ  कार्रवाई कर आधा दर्जन बाइकें जब्त की गई थीं। इस मामले में बाइक के मालिकों से सोमवार को दस्तावेज मंगाए गए हैं। मामले की संभागीय परिवहन उडऩदस्ता जांच कर रहा है। जिन बाइक मालिकों के पास बाइक को टैक्सी के रूप में संचालित करने के दस्तावेज नहीं होंगे, उनके खिलाफ  जुर्माने की कार्रवाई की जाएगी। ज्ञात हो कि अवैध रूप से बाइक टैक्सी का संचालन करने वालों ने परिवहन उडऩदस्ते को बताया कि रैपिडो बाइक टैक्सी का दफ्तर एमपी नगर जोन-1 स्थित चित्तौड़ कॉम्प्लेक्स में है। हम उनकी देखरेख में रैपिडो ऐप के माध्यम से बाइक चला रहे हैं। नियम क्या हैं ये कंपनी वाले ही बता सकते हैं। इसके बाद संभागीय परिवहन उडऩदस्ता के प्रभारी अलीम खान के नेतृत्व में पांच सदस्यीय टीम ने बाइक टैक्सी रैपिडो के दफ्तर पर छापा मारा था।  जब्त बाइक टैक्सियों का रजिस्ट्रेशन व्यावसायिक नहीं है।

-शासन स्तर पर लटकी है कैब पॉलिसी

शहर में संचालित कैब व बाइक टैक्सियों पर सख्ती करने के लिए शासन स्तर पर कैब पॉलिसी अटकी है। अगस्त में कैब पॉलिसी जारी की जानी थी, लेकिन अभी तक कोई निणज़्य नहीं लिया गया। यदि कैब पॉलिसी आ जाती है तो कैब और बाइक टैक्सियों पर आरटीओ का सीधा नियंत्रण रहेगा। अभी कैब व बाइक टैक्सी मोबाइल ऐप के आधार पर दिल्ली-मुंबई जैसे बड़े शहरों से संचालित हो रही हैं। बताया जा रहा है कि शिकायत मिली थी कि शहर में अवैध रूप से बाइक टैक्सियां चलाई जा रही हैं, इसे बाद परिवहन आयुक्त के निदेज़्श पर कारज़्वाई की गई है। माना जा रहा है कि इस तरह की कारज़्वाई आगे भी जारी रहेगी।

"To get the latest news update download tha app"