मध्य प्रदेश के सभी जिला अधीक्षकों को अलर्ट रहने के आदेश जारी, यह है बड़ा कारण

भोपाल। मध्य प्रदेश में एक बार फिर इंटेलिजेंस ने प्रदेश के सभी अधीक्षकों को निर्देश जारी कर अतिरिक्त सतर्क रहने के लिए कहा है। आदेश में कहा गया है कि मंगलवार और बुधवार को कुछ संगठनों की ओर से यात्राएं आयोजित की गई हैं। जिसके मद्देनज़र अधिक सतर्क रहने की जरूरत है। अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (गुप्तवार्ता) कैलाश मकवाना की ओर यह निर्देश जारी किए गए हैं। 

दिशा निर्देशों में कहा गया है कि स्वतंत्रता दिवस पंद्रह अगस्त के मद्देनजर भी अतिरिक्त सतर्कता बरती जाए। भोपाल और इंदौर के पुलिस उप महानिरीक्षकों (डीआईजी) के साथ ही सभी जिलों के पुलिस अधीक्षकों को जारी निर्देशों में कहा गया है कि रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड, धार्मिक स्थलों के आसपास, अन्य सार्वजनिक स्थानों और संवेदनशील क्षेत्रों में गश्त और तलाशी अभियान और तीव्र किया जाए। ताकि शांति व्यवस्था बनाए रखने में किसी प्रकार की चूक नहीं हो।

निर्देशों में कहा गया है कि होटल, लॉज, धर्मशालाओं और मुसाफिरों के रुकने वाले स्थानों पर भी विशेष नजर रखी जाए। बाहर से आने जाने वालों का पूरा ब्यौरा भी एकत्रित करने के लिए कहा गया है। संवेदनशील सार्वजनिक स्थानों की वीडियोग्राफी कराए जाने के निर्देश भी दिए गए हैं। जयपुर और बंदायू आदि शहरों में धार्मिक जुलूस के दौरान पथराव आदि की घटनाओं के मद्देनजर जुलूस आदि पर भी पैनी नजर रखने के लिए कहा गया है। इन दिनों विभिन्न धार्मिक आयोजनों और जम्मू कश्मीर के घटनाक्रम के कारण मध्यप्रदेश पुलिस विशेष सतर्कता ऐहतियातन बरत रही है। हालाकि अभी तक कहीं से किसी भी प्रकार की अप्रिय घटना की सूचना नहीं है और कानून व्यवस्था बरकरार है।

"To get the latest news update download tha app"