पार्टी के सोशल प्लेटफॉर्म के भरोसे मालवा-निमाड के नए कैंडिडेट

भोपाल। 2019 लोकसभा के रण में 75 प्रतिशत करीब यूथ वोटर्स को साधने पार्टियों ने मैदान जंग के साथ सोशल मीडिया के प्लेटफॉर्म पर भी पूरा दम दिखाया है..और पूरी तैयारी के साथ दिग्गजों ने मैदानी बयानों के साथ सोशल मीडिया पर कमान संभाली..लेकिन अपनी सीट पर चुनाव होते ही दिग्गजों ने सोशल मीडिया से मुंह मोड लिया और मैदान के साथ वो सोशल मैदान में भी सुस्त हो गये..अब देश में आखिरी चरण का चुनाव होना है जिसमें एमपी की भी 8 सीटें है...मालवा की इन 8 सीटों में जमीनी मुकाबला दिलचस्प है.. ऐसे में पार्टियों ने अपना पूरा फोकस मालवा पर कर दिया ..न सिर्फ पार्टियों के ऑफिशियल अकाउंट पर बल्कि दिग्गजों के प्रोफाइल पर अब मालवा के मुद्दों की झड़ी लग गयी है..लेकिन इस रण में मालवा के नए क्षत्रप कहीं पीछे दिखाई दे रहे हैं..पहली बार मैदान में उतरे प्रत्याशी या तो सोशल मीडिया के मैदान से दूर हैं या फिर उनकी पहुंच न के बराबर है...मैदान में उतर प्रत्याशियों की बात करें तो सबसे ज्यादा एक्टिव हाईप्रोफाइल सीट खंडवा है जहां से कांग्रेस के अरुण यादव मालवा के प्रत्याशियों में सबसे ज्यादा सक्रीय हैं..और सोशल मीडिया पर उन्होंने बीजेपी प्रत्याशी को काफी पीछे छोड़ दिया है... 


-अरुण यादव 2 लाख 99 हजार 360 फॉलोअर्स 

-एक दिन में औसतन 6 से 7 ट्वीट करते हैं, अब तक 9493 किए ट्वीट

-अधिकतर ट्वीट प्रचार से संबंधित, कुछ ट्वीट में करते हैं पटलवार

-सोशल मीडिया के मैदान में अरुण यादव से पीछे नंदकुमार सिंह चौहान 

-ट्वीटर पर नंदू भैया के हैं सिर्फ 55,337 फॉलोअर्स, अब तक किए 10945 ट्वीट,

-चुनाव दौर में सोशल मीडिया पर एक्टिव हुए नंदूभैया ने पिछले 24 घंटे में किए करीब 60 ट्वीट, 

-मंदसौर में सीट पर बीजेपी और कांग्रेस दोनों को नहीं सोशल मीडिया पर भरोसा

-अब तक 3506 ट्वीट कर चुके सुधीर गुप्ता, दिन में करते हैं औसतन 2 ट्वीट

-कांग्रेस प्रत्याशी मीनाक्षी नटराजन नहीं करती सोशल मीडिया का इस्तेमाल

-रतलाम में कांग्रेस के प्रत्याशी कांतिलाल भूरिया ट्वीटर के बजाए फेसबुक पर सक्रीय

-31 हजार से ज्यादा लोग करते हैं भूरिया को फॉलो, 

-रोजाना अपने फेसबुक पेज पर औसतन 2 पोस्ट करते हैं भूरिया, 

-वहीं रतलाम से बीजेपी के प्रत्याशी सोशल मीडिया में कांग्रेस से काफी पीछे हैं

-गुमान सिंह डामोर के ट्वीटर पर सिर्फ 55 फॉलोअर्स और अब तक 35 पोस्ट


तो जहां चुनाव बाकी है उन प्रत्याशियों का सोशल मीडिया पर दम लगाना लाजिमी है..लेकिन जिन वीआईपी सीटों पर चुनाव हो चुका है वो प्रत्याशी अब मैदान की तरह सोशल मीडिया पर भी सुस्त नजर आ रहे हैं...पहले बीजेपी सरकार से रोज 10 सवाल करने वाले दिग्गी अब सोशल मीडिया पर भी सुस्त हैं...


-12 मई के बाद ट्वीटर पर सुस्त दिग्गी, 

-12 मई के बाद सिर्फ एक ट्वीट, 

-चुनाव के पहले दिन में औसतन करते थे 7 से 8 ट्वीट

-रोज सवालों के जरिए बीजेपी से करते थे सवाल

-चुनाव से पहले सोशल मीडिया पर आई साध्वी प्रज्ञा भी सुस्त

-पहले साध्वी करती थी दिन में 2 से 3 ट्वीट, 

-चुनाव के बाद सोशल मीडिया पर प्रचार के लिए सक्रीय

-अपनी सीट पर मतदान के बाद भी सोशल मीडिया पर एक्टिव हैं राकेश सिंह

-पिछले 24 घंटे में 25 से ज्यादा किए ट्वीट

-वहीं विवेक तंखा भी सोशल मीडिया पर हैं एक्टिव, 

-बीजेपी को घेरने दिन में रोज 1 से 2 ट्वीट करते हैं तंखा


मालवा के मैदान में भले ही दिग्गजों ने कमान संभाली हो लेकिन असल बात ये है कि खंडवा के प्रत्याशियों को छोड़ मैदान में उतरे नए खिलाड़ियों की सोशल मीडिया पर कम ही है| ऐसे में प्रत्याशियों को इसका कितना नफा या नुकसान होगा ये देखना दिलचस्प होगा|