दिग्विजय की सीएम से मांग, नर्मदा में मशीनों से रेत उत्खनन रोकें

भोपाल| कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और नर्मदा की पैदल परिक्रमा कर चुके पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने नर्मदा नदी से मशीनों से निकाली जा रही रेत पर चिंता जाहिर की है, साथ ही उन्होंने मुख्यमंत्री कमलनाथ से मांग की है कि नर्मदा नदी में मशीनों और पनडुब्बी से रेत उत्खनन पर तत्काल रोक लगाएं। उनका कहना है कि इससे नदी में जल का बहाव कम हो रहा है। दिग्विजय सिंह भोपाल में युवा कांग्रेस नेता अर्जुन आर्य की पुस्तक "किसानों का सत्याग्रह और मामा बेनकाब" पुस्तक के विमोचन कार्यक्रम में बोल रहे थे| इस दौरान उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर जमकर हमला बोला| 

दिग्विजय सिंह ने कहा कि नर्मदा परिक्रमा के दौरान उन्होंने महसूस किया है कि नर्मदा नदी से मशीनों से रेत निकालने के कारण नीचे की मिट्टी तक निकल आई है। इससे नदी का बहाव कम हो रहा है। जहां रेत होनी चाहिए वहाँ अब मिटटी है, इससे जिस जगह पानी की भरमार थी वहाँ अब जलसंकट है, जलस्तर गिर गया है| उन्होंने कहा कांग्रेस ने अवैध रेत उत्खनन बंद करने और मशीनों से रेत निकालने पर रोक लगाने का वायदा किया था इसे पूरा किया जाना चाहिए। इसके अलावा दिग्विजय सिंह ने यह भी मांग की है कि वचन पत्र में किसानों के हित में जो घोषणाएं की है उन्हें पूरा किया जाए।  

इस दौरान दिग्विजय सिंह ने पूर्व सीएम शिवराज पर भी जमकर हमला बोला| उन्होंने कहा आदिवासियों को पट्टा देने की केंद्र सरकार की स्कीम का मप्र में लाभ नहीं दिया गया। यह स्कीम 2004 में यूपीए की सरकार लाई थी। लेकिन अधिकारियों ने गुमराह किया| अब सरकार जाते ही मामा को आदिवासियों की याद आई। मामाजी को 15 साल फुर्सत नहीं मिली, क्योकि रेत खदानें चलानी थीं। पूरा परिवार रेत खदानें चलाने में लगा रहा। उन्होंने आरोप लगाया कि शिवराज सिंह ने बुधनी में किसानों का आंदोलन गुमराह कर तुड़वाया। 


"To get the latest news update download tha app"