भाजपा नेता के भाई को सरेआम गोलियों से भूना, गैंगवार की आशंका

ग्वालियर। शहर में बदमाशों के हौसले कितने बुलंद होते जा रहे हैं इसका उदाहरण बुधवार की दोपहर एक बार फिर सामने आया जब वाहनों में भरकर आये बदमाशों ने एक युवक को गोलियों से भून दिया । मृतक पंकज सिकरवार भाजपा नेता शैलेंद्र सिकरवार का भाई बताया जा रहा है। घटना के बाद बड़ी संख्या में पुलिस बल मौके पर पहुंच गया है और  बदमाशों की घेराबंदी शुरू कर दी है। बदमाशों में कुख्यात गैंगस्टर परमाल तोमर,रमन चौहान और उसके साथियों के नाम सामने आए हैं। फिलहाल पुलिस इन नामों की तस्दीक कर रही है । 

पता चला है कि शहर के चर्चित अभिषेक तोमर हत्याकांड में आरोपी रहा पंकज सिकरवार वैष्णव पुरम में चल रही अपनी साइट पर काम देखने गया था। वह अपनी साइट पर बैठा हुआ था तभी दो वाहनों में सवार होकर आए कुछ लोगों ने उस पर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। दो गोली पंकज को लगी,  मौके पर मौजूद उसके परिचित और परिजन पंकज को गंभीर हालत में निजी अस्पताल लेकर भागे। लेकिन डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया । बदमाशों की संख्या पांच बताई जा रही है।

गौरतलब है कि करीब डेढ़ साल पहले तानसेन रोड पर अभिषेक तोमर के दिन दहाड़े हुई हत्या  में पंकज और उसके भाई के नाम आरोपी के रूप में सामने आए थे । दोनों भाई लंबे अरसे तक जेल में भी थे। मौके पर मौजूद परिजन औंकार राठोर ने आरोप लगाये कि अभिषेक तोमर हत्याकांड का बदला लेने के लिए परमाल तोमर,रमन चौहान,संजय तोमर और उनके साथियों ने इस हत्याकांड को अंजाम दिया है। उधर एडिशनल एसपी क्राइम पंकज पांडे ने कहा कि पुलिस ने नाकाबंदी की है। घटना से जुड़े सीसीटीवी फुटेज भी मिले हैं जिसकी जाँच की जा रही है। 

मृतक पंकज सिकरवार भाजपा नेता शैलेन्द्र सिकरवार का भाई बताये गए है। शैलेंन्द्र सिकरवार पहले भाजपा का सदस्यता प्रभारी और युवा मोर्चा में प्रदेश पदाधिकारी रह चुके हैं। उधर मृतक पंकज सिकरवार का एक भाई संतोष सिकरवार पत्रकार भी हैं। वे न्यूज चैनल के रिपोर्टर बताये गए है।  इस घटना के बाद शहर में गैंगवार की आशंका बढ़ गई है।

"To get the latest news update download tha app"