आज से सामूहिक अवकाश पर रहेंगे तहसीलदार और नायब तहसीलदार

जबलपुर|  कमलनाथ सरकार को घेरने के लिए राजस्व विभाग लगातार विरोध कर रहा है। प्रदेश भर के पटवारियों के बाद अब तहसीलदार और नायब तहसीलदार ने राज्य सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। आज से प्रदेशभर के तहसीलदार और नायब तहसीलदारो के साथ साथ जबलपुर के भी तहसीलदार और नायब तहसीलदार ने 4 दिन का अवकाश लेकर काम बंद कर दिया है| अचानक से प्रशासनिक तंत्र के अवकाश पर जाने से राजस्व विभाग का पूरा आगामी चार दिन के लिए पूरी तरह से ठप्प हो गया है। 

अवकाश पर गए राजस्व अधिकारियों की मांग है कि लंबे समय से उनके वेतन में विसंगति चली आ रही है जिसे कि सरकार तुरंत ही अमल में लाएं। इसके अलावा संसाधनों की कमी के साथ तहसीलदार काम कर रहे है जिसके चलते कई बार उन्हें असुविधा भी होती है। तहसीलदारों की मुख्य मांग है कि उनकी गाड़ियों में बत्ती लगाई जाए क्योंकि कई बार छापामार कार्यवाही के दौरान उन्हें परेशानियां झेलनी पड़ती है। जबलपुर तहसीलदार संघ के अध्यक्ष प्रदीप मिश्रा की मानें तो जब भी उन्हें अवैध माइनिंग य अन्य कार्रवाई करने के लिए जाना होता है तो उस दौरान उनकी उपस्थिति गाड़ियों की बत्ती से ही होती है पर केंद्र सरकार ने इन बत्ती को हटा दिया है जिसके चलते उनकी कार्यवाही भी अवरुद्ध होती है। 

अवकाश पर गए तहसीलदारों ने बताया है कि लंबे समय से उनके पास संसाधनों की कमी बनी हुई है जिसके चलते वह काम करने में भी अक्षम है लिहाजा संसाधनों की व्यवस्था राज्य सरकार तहसीलदारों के लिए करें। शुरुआती विरोध में तहसीलदार और नायब तहसीलदारों ने आज से 4 दिन का अवकाश कर अपना विरोध जताया है। चार दिन के बाद प्रदेशभर के तहसीलदार नायब तहसीलदार एकत्रित होकर राज्य सरकार के खिलाफ राजधानी में अपना विरोध प्रकट करेंगे और फिर भी अगर उनकी मांगों पर ध्यान नहीं देती है तो सरकार के खिलाफ उग्र आंदोलन करेगा। संघ ने चेतावनी दी है कि 13 अक्टूबर की शाम तक मांगों पर सकारात्मक निर्णय नहीं लिया तो 14 से सामूहिक हड़ताल पर जाएंगे। 

"To get the latest news update download tha app"