वायरल ऑडियो पर गरमाई सियासत, मंत्री बोले-'बचेंगे नहीं दोषी अधिकारी-कमर्चारी'

भोपाल| मध्य प्रदेश में बिजली कटौती पर मचे घमासान और सरकार द्वारा विपक्ष पर साजिश रचने के आरोपों के बीच सोशल मीडिया वायरल हुए ऑडियो से सियासत गरमा गई है| वायरल ऑडियो सरकार के पास पहुंचा, जिसमें सरकार को बदनाम करने के लिए बड़े पैमाने पर बिजली कटौती किए जाने की बातचीत दर्ज है। सरकार इस रिकॉर्डिंग का परीक्षण भी करवा रही है। इसमें इंदौर, भोपाल और छतरपुर में बिजली काटे जाने की बात है तो अब रतलाम में फोकस करने के निर्देश भी दिए जा रहे हैं। वहीं वायरल हुए इस ऑडियो को लेकर मंत्री पीसी शर्मा ने भाजपा और संघ पर सरकार को कमजोर करने के आरोप लगाए हैं। वहीं उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी ने कहा है कि बीजेपी षड्यंत्र रच कर खुद को सही बताने की कोशिश कर रही है, लेकिन सरकार सजग है| उन्होंने बताया कि जिला स्तर पर मोनोटरिंग हो रही है, जो अधिकारी कर्मचारी इनमें लिप्त पाया गया वो कानून के शिकंजे से बच नही पायेगा| 

मंत्री पटवारी ने कहा बीजेपी कितना अधिकारियों के साथ मिलकर षड्यंत्र कर ले पर न्याय जीतेगा, बीजेपी का षड्यंत्र और अधिकारियों की मिलीभगत से लगे कर्मचारी अधिकारियों को मंत्री ने हिदायत देते हुए कहा अब आप बीजेपी के कार्यकर्ता नही शासन के कर्मचारी है, बीजेपी इन अधिकारी कर्मचारियों को सजा से नही बचा पाएगी| वहीं मंत्री पीसी शर्मा ने कहा ने कि भाजपा-संघ सरकार को बदनाम कर रहे हैं। इसके जवाब में भाजपा के वरिष्ठ नेता और नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने कहा कि कमलनाथ सरकार चला नहीं पा रहे, इसलिए भाजपा और संघ पर दोष मढ़ रहे। जिस ऑडियो का जिक्र किया जा रहा है, इसमें एक व्यक्ति की बातचीत से क्या सरकार अस्थिर हो जाएगी।


वायरल ऑडियो में सरकार को बदनाम करने का जिक्र 

दरअसल, सोशल मीडिया पर ऑडियो वायरल वायरल हुआ है, सरकार के पास एक ऐसी फोन रिकार्डिंग पहुंची है, जिसमें दो व्यक्ति बिजली काटकर सरकार को बदनाम करने की बात कर रहे हैं। बातचीत से लगता है कि संभवत: ये बिजली कंपनी से जुड़े लोग है। हालांकि इस संभावना से भी इंकार नहीं किया जा सकता कि यह सनसनी फैलाए जाने के इरादे से भी जारी किया गया हो। रिकार्डिंग में निर्देश दिए जा रहे हैं कि बिजली कटौती बढ़ाओ। छोटे जिलों पर ज्यादा फोकस करो। कमलनाथ सरकार को जितना बदनाम कर सकते हो, उतना करो। रतलाम पर फोकस करो। ग्रामीण क्षेत्रों में डेढ़ घंटे कटौती करो। इसी बीच दूसरी ओर से सरकार के एक्शन में होने, 17 लाख रुपए का पेमेंट होने पर अधिक की दरकार होने की बात रखी गई। फोन पर यह भी हिदायत दी गई कि रिकॉर्डिंग होने लगी है। फोन पर बात मत करो। आप खुद आकर मिलो।

"To get the latest news update download tha app"