कांग्रेस अध्यक्ष के लिए रायशुमारी, मप्र के दो नेताओं को बड़ी जिम्मेदारी

भोपाल। कांग्रेस का नया राष्ट्रीय अध्यक्ष चुनने के लिए मैराथान बैठकों का दौर जारी है। शनिवार रात तक नए अध्यक्ष के नाम का एलान होने की संभावना है। कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक शाम 8 बजे रखी गई है। इसमें नए अध्यक्ष के नाम पर फैसला लिया जा सकता। इससे पहले मध्य प्रदेश के दो वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं को अध्यक्ष के चयन को लेकर बड़ी जिम्मेदारी सौंपी गई है। अध्यक्ष की चयन प्रक्रिया को लेकर पांच समूह बनाये गए हैं, पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया और पूर्व केंद्रीय मंत्री अरूण यादव को दो अलग अलग समूह में शामिल किया गया है।

सिंधिया को यूपी समेत देश के 8 प्रमुख राज्यों की जिम्मेदारी मिली है। जहां कांग्रेस की सरकार है वहां के मुख्यमंत्री और जहां कांग्रेस विपक्ष की भूमिका में है वहां नेता प्रतिपक्ष से चर्चा कर नाम का चयन करना है। सिंधिया को उत्तर प्रदेश, दिल्ली, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, जम्मू कश्मीर, चंडीगढ़, उत्तराखंड के नेताओं से बात करने की अहम जिम्मेदारी मिली है। 

वहीं, अरूण यादव को अरुणाचल प्रदेश, असम, मणिपुर, मिजोरम, मेघालय, नागालेंड, सिक्किम और त्रिपुरा के नेताओँ से रायशुमारी करने की जिम्मेदारी मिली है। यादव के साथ इस टीम में अंबिका सोनी, अहमद पटेल, ओमान चांडी, हरीश रावत, दीपक बावरिया, बालासाहब, थोरट, अनुराद नारायण सिंह, केएन मुनियाप्पा, मीरा कुमार, सचिन राव को रखा गया है। नए कांग्रेस अध्यक्ष के चुनाव प्रक्रिया का सोनिया गांधी और राहुल हिस्सा नही हैं।

गौरतलब है कि राहुल गांधी के इस्तीफे के बाद से बनी असमंजस की स्थिति और नेतृत्व के संकट को खत्म करने की कोशिश करते हुए कांग्रेस ने सीडब्ल्यूसी की बैठक बुलायी है। लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की करारी हार के बाद राहुल गांधी ने पार्टी के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था। उस वक्त उनके इस्तीफे को अस्वीकार करते हुए सीडब्ल्यूसी ने उन्हें पार्टी में आमूलचूल बदलाव के लिए अधिकृत किया था, हालांकि गांधी अपने रुख पर अड़े रहे और स्पष्ट कर दिया कि न तो वह और न ही गांधी परिवार का कोई दूसरा सदस्य इस जिम्मेदारी को संभालेगा। अपने इस्तीफे की घोषणा करते हुए गांधी ने यह भी कहा था कि कांग्रेस अध्यक्ष नहीं रहते हुए भी वह पार्टी के लिए सक्रिय रूप से काम करते रहेंगे।

"To get the latest news update download tha app"