भोपाल शर्मसार: मासूम के परिजनों से थाने में बोली पुलिस भाग गई होगी बच्ची, घर जाकर सो जाओ

भोपाल। राजधानी के कमला नगर थाना इलाके में बलात्कार के बाद में मासूम की हत्या के मामले में पुलिस का अमानवीय चहरा एक बार फिर उजागर हुआ है। थाने में देर रात ड्यूटी पर तैनात आरक्षक रूप सिंह ने मृतक बच्ची के परिजनों से कह डाला की बच्ची किसी के साथ भाग गई होगी। घर जाकर शांति से सो जाओ। वहीं डीआईजी भोपाल इरशाद वली ने इस बात की जानकारी मिलने के बाद में आरक्षक को सस्पेंड कर दिया है। मामले में पुलिस ने फिलहाल मर्ग कायम कर पड़ताल शुरू कर दी है।

बच्ची के मामा ने बताया कि पुलिस समय पर कार्रवाई करती तो बच्ची की जान बच सकती थी। उसकी लाश घर से कुछ ही दूरी पर मिली है। हत्या का संदेह भी पड़ोस की एक युवती पर था। जब इस बात की जानकारी पुलिस को दी गई तो पुलिस ने कार्रवाई करने से साफ इनकार कर दिया। उनसे कहा गया कि बच्ची किसी के साथ में भाग गई होगी चुपचाप जाकर सो जाओ। इतना ही नहीं बार-बार थाने आने पर उन्हें व परिजनों को थाने में बंद करने की धमकी दी गई। इस बात की जानकारी थाना प्रभारी, सहित सीएसपी टीटी नगर उमेश तिवारी को दी गई थी। बावजूद इसके कार्रवाई नहीं की गई। हालांकि सीएसपी टीटी नगर उमेश तिवारी का कहना है कि उनके संज्ञान में मामला आते ही तत्काल कार्रइवाई कराई गई थी। बच्ची के अपरहण की कायमी देर रात ही करा दी गई थी। बच्ची के मामा का यहां तक कहना है कि जब वह देर रात आस-पास के इलाकों में वह और साथी बाइकों से बच्ची की तलाश कर रहे थे। तब पुलिसवालों ने मोहल्ले में आकर उन पर ही माहौल खराब करने का आरोप लगा डाला। इसके बाद भी लगातार बच्ची की तलाश जारी रखी गई। सुबह बच्ची का शव बरामद कर लिया गया।

संदेही के घर तलाशी से पुलिस ने कर दिया था इनकार

मासूम के मामा का कहना है कि उन्होंने रात में ही पास में रहने वाली संदेही लड़की पर शक जाहिर किया। उसके घर की तलाशी लेने की बात कही थी। तब पुलिस ने यह कहकर टाल किया कि किसी की नींद नहीं खराब करना, हमे काम करने दो। तड़के संदेही मां-बेटी घर से सामान लेकर भाग रही थीं। तभी उन्हें पकड़कर पुलिस के हवाले किया गया।

मरचुरी में भारी पुलिस बल तैनात

बच्ची का शव मिलने के बाद में पुलिस ने तत्काल बॉडी को पीएम के लिए रवाना कर दिया था। जिसके बाद में मासूम के रिश्तेदार और परिचितों की भारी भीड़ मरचुरी पहुंच गई। लोग आक्रोशित थे, जिसे देखते हुए मरचुरी में भोपाल पुलिस के तमाम अधिकारियों सहित भारी पुलिस बल की तैनाती कर दी गई। वहीं संदेही युवती के घर के बाहर भी अनहोनी की आशंका के चलते पुलिस बल की तैनाती कर दी गई है।

मंत्री ने स्वीकारी पुलिस की लापरवाही

घटना की जानकारी के बाद में मंत्री पीसी शर्मा ने पुलिस के आला अधिकारियों को फटकार लगाई है। उन्होंने स्वीकार किया कि पुलिस की गंभीर लापरवाही उजागर हुई है। समय पर कार्रवाई होती तो मासूम की जान बच सकती थी। मंत्री शर्मा ने कहा कि दोषी पुलिसकर्मीयों के खिलाफ कार्रवाई कराई जाएगी।

"To get the latest news update download tha app"