राहुल का इमोशनल कार्ड- 'मोदी मेरे माता-पिता, दादा-दादी को गाली देते हैं, फिर भी मैं प्यार बांटता हूँ'

खंडवा| सुशील विधानी| मध्यप्रदेश के खंडवा में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपने प्रत्याशी अरुण यादव के लिए प्रचार करने आए थे। इस दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर बड़ा वार किया है। उन्होंने कहा है कि नरेंद्र मोदी मेरे माता-पिता के लिए गलत शब्दों का प्रयोग करते हैं लेकिन हम उन्हें प्यार देते हैं।  राहुल गांधी ने पहली बार इमोशनल कार्ड के जरिए पीएम मोदी पर खंडवा में प्रहार किया है। उन्होंने पीएम मोदी को लेकर कहा कि वे संसद में मेरे पिता, मादा, दादा, दादी और परदाता को गाली दी। उसके बाद भी मैं उनके पास गया और कहा कि आप जितनी भी नफरत करें, मैं आपको प्यार ही दूंगा। राहुल गांधी ने कहा कि इन चीजों को बावजूद भी मैं उनसे जाकर गले मिला।

कांग्रेस अध्यक्ष ने यह भी कहा कि नरेंद्र मोदी ने मेरे पिता के बारे में बात की। उनके लिए गलत शब्दों का प्रयोग करते हैं। वे हमारे परिवार से नफरत करते हैं। लेकिन मैं कहता हूं कि वो जितना गुस्सा और नफरत करेंगे, मैं उन्हें उससे दुगुना प्यार दूंगा। हमेशा मैं उन्हें प्यार ही लौटाऊंगा। उन्होंने कहा कि नफरत को नफरत नहीं काट सकती हैं। उसे प्यार से ही खत्म कर सकते हैं। मैं नरेंद्र मोदी की नफरत को प्यार से ही खत्म करूंगा।

 इससे पहले उन्होंने पीएम मोदी राफेल के मुद्दे पर भी चैलेंज किया। उन्होंने कहा कि वे कहीं आ जाएं दो घंटे के लिए। दो घंटे में मुझे सिर्फ पंद्रह मिनट चाहिए बोलने के लिए। उनसे में तीन से चार सवाल पूछूंगा। राफेल घोटाले पर आपके चैकीदारी के बारे में पूछूंगा। मैं गारंटी देता हूं कि नरेंद्र मोदी देश को अपना चेहरा नहीं दिखा पाएगा क्योंकि चैकीदार चोर है क्योंकि चैकीदार चोर है। मैं चैकीदार से डरता नहीं हूं। चैकीदार डरता है, मेरे समाने खड़ा नहीं होता है।

 -हम दो करोड़ युवाओं को रोजगार देने या 15 लाख की बात नहीं करूंगा मैं 360000 की बात करूंगा।

-5 करोड़ परिवारों को जैसे ही 72000 रुपए आएगा आप माल खरीदना शुरू करेंगे। दुकानें शुरू होगी। फैक्ट्रियां शुरू होगी। न्याय योजना लाखों करोड़ों युवाओं को रोजगार देगी। न्याय योजना हिन्दुस्तान के सब दुकानदारों की दुकानें। एक बार फिर शुरू कर देगी।

 -अब होगा न्याय, क्योंकि पिछले 5 साल से अन्याय।

-2019 में जो बजट पेश होंगे एक नेशनल और एक किसानों के लिए अलग बजट पेश होगा।

 -मध्यप्रदेश में, छत्तीसगढ़ में और राजस्थान में किसानों का कर्ज माफ हुआ। शिवराज सिंह और नरेंद्र मोदी कहते हैं कि कर्ज माफ नहीं हुआ।


 चुनावी सभा की झलंकिया।

-न्याय योजना के जरिए  किसानों, महिलाओं और बेरोजगार के खातों में हम हर महीने 6 हजार रुपए डालेंगे। जबकि नरेंद्र मोदी ने साल के 6 हजार रुपए देने की बात कही है। जैसे ही लोगों के पास पैसा आएगा, अर्थव्यवस्था पटरी पर आ जाएगी। लोगों को नौकरियां और काम मिलेना लगेगा। दुकानदार और छोटे व्यापारियों का धंधा चल पडे़गा। न्याय योजना आपका हक। ये आपका जो नुकसान किया गया है, उसकी भरपाई है।

 -राहुल गांधी ने पुलवामा के शहीदों की बात करते हुए पीएम को घेरा। उन्होंने कहा कि, पुलवामा में सीआरपीएफ के लोग शहीद हुए, लेकिन हमें शहीद का दर्जा नहीं मिलता है। सारे पैरामिलिट्री फोर्सेस के जवानों को 2019 के चुनाव के बाद शहीद का दर्जा मिलेगा।

 -कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि, भाजपा के लोग कर्जमाफी पर झूठ बोल रहे हैं। शिवराज सिंह ने कहा कि कर्जामाफ नहीं हुआ है। वे भ्रम फेला रहे हेै।कोई भी किसान कर्जा न लौटाने के लिए 2019 के चुनाव के बाद कर्जा न लौटाने के लिए जेल में नहीं डाला जाएगा। वहीं उन्होंने किसानों के लिए अलग से बजट पेश करने की बात भी दोहराई। उन्होंने कहा कि भारत के इतिहास में ऐसा पहली बार होगा, जब दो बजट पेश होंगे। किसानों के लिए पहले बजट पेश होगा। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि, हमने अपने घोषणा पत्र में व्यापार शुरू करने के लिए एक बात लिखी है। बिना मंजूरी के युवा अपना व्यापार शुरू कर सकेंगे। तीन साल बाद सरकार से मंजूरी लेना होगी। दस लाख युवाओं को पंचायत में नौकरी देंगे।

 -कांग्रेस अध्यक्ष नें पीएम मोदी को लेकर कहा कि, वो मुझे और मेरे पिता, दादी का अपमान करते हैं। लेकिन मैं मर जाऊंगा फिर भी कभी पीएम मोदी की मां और पिता का अपमान नहीं करूंगा। हम प्यार की राजनीति करते हैं।

 -खण्डवा संसदीय सीट के कांग्रेस प्रत्याशी अरुण यादव के समर्थन में कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी,  छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल , मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने स्टेडियम में सभा को सम्बोधित किया। 

 -भूपेश बघेल ने कहा कि हम तो सवाल करेंगे। सवाल पूछना हमारा संवैधानिक अधिकार है।सवाल तो है साहब कहते हुए मोदी से कई सवाल पूछे। उन्होंने

पुलवामा हमले पर कई तरह के आरोप लगाते हुए मोदी से सवाल पूछा । 

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि खण्डवा से छिंदवाड़ा का सम्बंध जोड़ा था। मैंने रेल चलाई थी। अब रिश्ता जोड़ने आया हूँ। जो अधिकार छिंदवाड़ा के लोगो का मुझपर हैं। वही अधिकार आपको देने आया हूँ।