'इंदौरी पोहा, स्वच्छता और ताई की डांट'. इंदौर का दिल जीतने मोदी के भाषण में रही यह ख़ास बात

इंदौर| आकाश धोलपुरे|  इंदौर संसदीय क्षेत्र से बीजेपी प्रत्याशी शंकर लालवानी का नाम लिए बगैर, खुद के नाम पर वोट मांगने वाले देश के पीएम नरेंद्र मोदी ने इंदौर के विकास को थमने नही देंगे का वादा कर लोगो का विश्वास जीतने का प्रयास किया। इंदौर में जीत के प्रति आश्वस्त पीएम मोदी ने रविवार शाम को इंदौर से कांग्रेस और राहुल गाँधी पर जमकर निशाना साधा और आतंकवाद के मुद्दे पर लोगो का दिल जीतने का प्रयास किया। पीएम मोदी ने हालांकि इंदौर प्रत्याशी शंकर लालवानी की जीत तय करने की पूरी कोशिश की और अपने भाषण में उन्होंने इंदौरी पोहे के जरिये आम लोगो की नब्ज पर हाथ रखने की कोशिश की। 

मोदी ने दशहरा मैदान पर आयोजित विजय संकल्प सभा को संबोधित करते कांग्रेस और विपक्ष पर निशाना साधा और कहा कि उनके पास कोई विजन नही है और 8 लोकसभा सीट पर लड़ने वाले भी पीएम बनने की होड़ में है। इंदौर में सफाई की तारीफ करते हुए मोदी ने जनता को विश्वास दिलाया कि इंदौर के विकास को थमने नही दिया जाएगा। वही उन्होंने लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन की तारीफ कर उन्हें इंदौर की पहचान बताया और कहा कि उन्हें अधिकार की वो गलत होने पर मुझे डाँट भी सकती है। हालांकि भाषण के दौरान वो एक चूक कर बैठे जिसमे उन्होंने कहा कि ताई 9 बार से इंदौर की सांसद के रूप में रही जबकि हकीकत ये है कि ताई 1989 से 25 साल तक लगातार 8 बार सांसद रही है। उन्होंने कांग्रेस के लिए कहा कि कांग्रेस का एक ही मुद्दा है मोदी हटाओ मोदी हटाओ और इसी कारण देश मे आतंकवाद और नक्सलवाद फैल रहा है। वही राजस्थान में दलित बेटी से गैंग रेप मामले में मोदी ने कहा उन्होंने आज ही मायावती से कहा है कि राजस्थान में कांग्रेस से समर्थन वापस ले। इस दौरान उन्होंने आईपीएल का जिक्र करते हुए कहा कि 2009 में कांग्रेस 2 बड़े इवेंट चुनाव और आईपीएल कराने में असहज थी जबकि इस साल कई त्यौहार और आईपीएल मैच के साथ चुनाव हो रहे है। वही उन्होंने समूचे भाषण में आतंकवाद पर निशाना साधते हुए खुद को जिताने की अपील की। हालांकि मोदी की इंदौर यात्रा में भले ही दशहरा मैदान खचाखच भरा हो लेकिन ये बात तो साफ उनके चाहने वाले खुद सड़क मार्ग पर भीड़ लगाए उनका इंतजार करते रहे और जब वो आये तो मोदी - मोदी के नारे लगाकर अपने इरादे भी जता दिए हालांकि ये बात ओर है कि 19 मई को इंदौर की जनता अपना अभिन्न मत रखेगी उसके बाद 23 मई को ही साफ हो पायेगा की मोदी इंदौर में कितने सफल रहे।





"To get the latest news update download the app"