रेपिस्ट के हाथ पैर काटकर उनके मोहल्ले में फांसी दी जाए: मंत्री इमरती देवी

भोपाल।  लगातर हो रही रेप की वारदातों से मध्य प्रदेश देश की रेप कैपिटल में बदलता जा रहा है। प्रदेश में इस तरह की घटनाओं को लेकर आमजन के साथ ही अब नेता, मंत्रियों में भी भारी आक्रोश देखने को मिल रहा है। मध्य प्रदेश सरकार में महिला बाल विकास मंत्री इमरती देवी के बयान से तो कुछ ऐसा ही पता चल रहा है। उन्होंने मीडिया को इंटरव्यू देते हुए कहा कि, रेप करने वालों के हाथ पैर काटकर उनके ही मोहल्ले में फांसी की सजा दी जाए। 

दरअसल, मंत्री इमरती देवी बुधवार को भोपाल में रेप और हत्या की शिकार हुई मासूम बच्ची के परिवार से मिलने पहुंची थीं। यहां उन्होंने ऐसे आपराधियों पर सख्त कार्रवाई करने के साथ ही ऐसा बयान दिया जिससे सब हैरान रह गए। मंत्री इमरती देवी ने कहा कि, रेप करने वालों के हाथ पैर काट दिए जाएं और उनकों घटनास्थल पर ही फांसी की सजा दी जाए। ताकि लोग रेप की वारदात करने से डरें। इसके साथ ही उन्होंने पुलिस की कार्यप्रणाली पर भी सवाल उठाए हैं। इमरती देवी ने कहा है कि रेप के मामलों में पुलिस को गंभीरता से काम करना चाहिए। वह भोपाल में 9 साल की रेप पीड़ित बच्ची के परिजनों से मिलने पहुंची थी। परिजनों से मिलते वक्त वह भावुक हो गईं और पीड़ित परिवार को हर संभव मदद का भरोसा भी दिलाया। 

आंगनवाड़ी कार्यकर्ता सस्पेंड

कमला नगर के कई आंगनवाड़ी केंद्रों में मंत्री इमरती देवी ने ओचक निरीक्षण किया। इसके अलावा वह नेहरू नगर भी पहुंचीं। जहां उन्होंने अव्यवस्था पाए जाने पर सुपरवाइजर को सस्पेंड कर दिया।  उन्होंने खाने गुणवत्ता और मात्रा को लेकर नाराजगी भी जाहिर की। उन्होंने आंगनवाड़ी केंद्रों पर खुद निरीक्षण करने की बात भी कही है। उन्होंने अधिकारियों को खाने की मात्रा बढ़ाने के लिए निर्देश।

"To get the latest news update download tha app"