आर्टिकल 370 पर शिवराज ने नेहरु को लेकर दिया विवादास्पद बयान, मचा बवाल

भोपाल।

जम्मू-कश्मीर से धारा 370  हटाए जाने के बाद से देशभर में सियासत गर्माई हुई है। बयानबाजी का दौर तेजी से चल रहा है।एक जहां कांग्रेस मोदी के फैसले पर सवाल पर सवाल खड़े कर रही है वही दूसरी तरह पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज ने नेहरु पर टिप्पणी कर सियासी गलियारों में बवाल मचा दिया है। शिवराज ने आर्टिकल 370 पर ना सिर्फ कांग्रेस को घेरा है बल्कि देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू को इसके लिए जिम्मेदार ठहराते हुए अपराधी तक करार दे दिया है।शिवराज ने कहा कि पूर्व पीएम पंडित जवाहर लाल नेहरू 'क्रिमिनल' थे। शिवराज के बयान के बाद राजनीति में भूचाल आ गया है, कांग्रेस लगातार हमले बोल रहा है।

दरअसल, शनिवार को ओडिशा की राजधानी भुवनेश्वर में मीडिया से बातचीत में शिवराज ने नेहरू को 'क्रिमिनल' करार दिया । उन्होंने कहा जवाहरलाल नेहरू एक अपराधी हैं, इसके दो मुख्य कारण है।  पहला यह कि जब भारतीय फौज कश्मीर से पाकिस्तानी कबाइलियों को खदेड़ते हुए आगे बढ़ रही थी, ठीक उसी वक्त नेहरू ने संघर्ष विराम का ऐलान कर दिया। इस वजह से कश्मीर का एक-तिहाई हिस्सा पाकिस्तान के कब्जे में रह गया। यदि कुछ दिन और सीजफायर की घोषणा नहीं होती, तो पूरा कश्मीर भारत का होता।नेहरू को 'क्रिमिनल' कहने की दूसरी वजह बताते हुए शिवराज ने कहा 'नेहरू ने जम्मू-कश्मीर में आर्टिकल 370 लागू किया। एक देश में दो निशान, दो विधान (संविधान) और दो प्रधान कैसे अस्तित्व में रह सकते हैं? यह केवल देश के साथ नाइंसाफी नहीं है, बल्कि अपराध भी है। शिवराज के इस बयान ने सियासी गलियारों में भूचाल ला दिया है, कांग्रेस लगातार सत्ता पक्ष पर हमले बोल रहा है।

गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने हाल ही में जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन अधिनियम-2019 के तहत राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों जम्मू एवं कश्मीर और लद्दाख में विभाजित कर दिया है। संसद ने 6 अगस्त को राष्ट्रपति के आदेश का समर्थन करते हुए अनुच्छेद-370 के प्रावधानों को समाप्त करने का प्रस्ताव पारित किया था। कांग्रेस ने संसद में जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने और जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन बिल का जमकर विरोध किया था। संसद से बाहर भी कांग्रेस ने मोदी सरकार की मंशा पर सवाल उठाए।


"To get the latest news update download tha app"