भोपाल की 'टफ फाइट' में उलझे दिग्विजय, वोट नहीं डालने पर जताया खेद

भोपाल| मध्य प्रदेश की आठ सीटों पर मतदान समाप्त हो गया| इन सीटों में सबसे ज्यादा टफ फाइट भोपाल सीट पर नजर आ रही है| यही कारण है कि कांग्रेस प्रत्याशी और दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह पूरे समय मतदान पर नजर बनाये रहे, वही मतदान केंद्रों का लगातार निरीक्षण भी किया| इस दौरान व्यवस्थाओं को लेकर भी उनकी नाराजगी सामने आई| दिग्विजय का मुकाबला साध्वी प्रज्ञा ठाकुर से है| शुरुआत से ही यहां कड़ी लड़ाई देखने को मिल रही थी, यही कारण था कि दिग्विजय दिन भर भोपाल में डटे रहे और वोट डालने राजगढ़ भी नहीं जा सके| इसको लेकर बीजेपी उन पर तंज कस रही है, वहीं दिग्विजय ने मतदान नहीं करने पर सफाई दी है| 

दिग्विजय सिंह ने खेद जताते हुए कहा मुझे खेद है कि मैं अपने मत का प्रयोग करने राजगढ़ नहीं जा पाया। अगली बार से मैं आश्वस्त करना चाहता हूं कि मेरा नाम भोपाल के मतदाता सूची में जुड़ जाएगा। इसके साथ ही दिग्विजय सिंह पूरे दिन भोपाल के विभिन्न पोलिंग स्टेशनों पर घूमते रहे। राजधानी भोपाल से 130 किलोमीटर दूर राजगढ़ जिले के मतदाता सूची में उनका नाम है। लेकिन वहां जाकर वोट नहीं डालने पर दिग्विजय सिंह ने खेद जताया है। दिग्विजय सिंह भोपाल से बीजेपी उम्मीदवार प्रज्ञा सिंह ठाकुर के खिलाफ चुनाव लड़ रहे हैं। दिन में दिग्विजय सिंह को एक मंदिर के बाहर भी देखा गया। जब उनसे पूछा गया कि क्या आप वोट डालने जाएंगे, तो उन्होंने कहा कि मैं देखूंगा। मैं पहुंचने की कोशिश करूंगा।

गौरतलब है कि भोपाल सीट पर देश भर की नजर है, ऐसे में दिग्विजय का वोट न करना भी बीजेपी के लिए मुद्दा बन गया है| दिग्विजय सिंह का इस सीट पर मुकाबाला मालेगांव ब्लास्ट की आरोपी रहीं साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर से है। साध्वी इन्हें हिंदू आतंकवाद के मुद्दे पर घेरती रही हैं। वहीं, दिग्विजय सिंह भी साध्वी के काट के लिए मंदिर-मंदिर घूमे थे। इशके साथ ही उनकी जीत के लिए कई साधु-संतों ने हवन-पूजा भी की है।  अब देखना होगा तीन दशक बाद क्या कांग्रेस यहां सफलता हासिल करती है या बीजेपी अपने मजबूत गढ़ को बचाने में सफल होती है| 



"To get the latest news update download tha app"