मुख्यमंत्री तक पहुंची मंत्री आरिफ अकील की शिकायत, कामकाज पर उठे सवाल

सीहोर। जिला कांग्रेस में अब प्रभारी मंत्री आरिफ अकील के खिलाफ आवाज उठने लगी है। कांग्रेस का प्रतिनिधिमंडल शिकायतों का पुलंदा लेकर शनिवार को मुख्यमंत्री कमलनाथ से मिला। कांग्रेसियों ने प्रभारी आरिफ अकील मंत्री के कामकाज पर सवाल उठाए साथ ही जिले के अधिकारी एवं कर्मचारियों को हटाने की मांग कर डाली। अब देखना यह है कि सीहोर कांग्रेस नेताओं की मांग को मुख्यमंत्री कितनी गंभीरता से लेते हैं। 

विधानसभा चुनाव परिणाम के बाद प्रदेश सत्ता में लौटी है,लेकिन अभी भी सीहोर में कांग्रेस नेताओ की गुटबाजी खत्म होने का नाम नही ले रही है। शनिवार को कांग्रेस नेताओं का एक प्रतिनिधिमंडल  मुख्यमंत्री कमलनाथ से मिला। मुलाकात के दौरान कांग्रेस नेताओं ने सीएम को शिकायत करते हुए बताया कि सीहोर में बड़ी संख्या में कर्मचारी ओर अधिकारियों ने विगत चुनाव में भाजपा के पक्ष में काम किया है। कांग्रेस नेताओं की मां ग थी कि ऐसे कर्मचारी ओर अधिकारियों को हटाया जाए। सीएम कमलनाथ से मुलाकात के दौरान कांग्रेस नेताओं ने जिले के प्रभारी मंत्री आरिफ अकील के कामकाज को लेकर भी शिकायत की। कांग्रेस नेताओं का कहना था कि प्रभारी मंत्री आरिफ अकील कांग्रेस नेता और कार्यकर्ताओं की सुनवाई नही करते है।

जिला मुख्यालय पर पिछले लंबे समय से कांग्रेस की स्थिति काफी नाजुक रही है। यदि कांग्रेस के पिछले चुनावों का प्रदर्शन देखा जाए  तो लंबे समय से कांग्रेस किसी भी चुनाव को जीतने में लगभग असफल रही है। 2018 के विधानसभा चुनाव के पहले हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस उम्मीदवार हरीश राठौर की जमानत तक जप्त हो गई थी। उस समय ज्यादातर कांग्रेस नेताओं ने बगावत कर कांग्रेस उम्मीदवार हरीश राठौर के खिलाफ काम किया और कांग्रेस की स्थिति को लगातार कमजोर किया ।

"To get the latest news update download tha app"