अंर्तकलह के बाद सोनिया ने 12 को बुलाई अहम बैठक, ले सकती है कई बड़े फैसले

भोपाल/नई दिल्ली।

मध्यप्रदेश समेत अन्य राज्यों में कांग्रेस में मचे घमासान के बीच कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने 12 सितम्बर को दिल्ली में एक अहम बैठक बुलाई है।इसमें मुख्यमंत्रियों, नेता प्रतिपक्ष, पार्टी महासचिवों तथा प्रदेश अध्यक्षों सहित सभी पदाधिकारी शामिल होंगें।इससे पहले सोनिया कांग्रेस नेता सिंधिया से मुलाकात करेगी। माना जा रहा है कि सोनिया गांधी इस अहम बैठक में कई बड़े फैसले ले सकती हैं।इनमें एमपी में कांग्रेस नेताओं के बीच विवाद और पीसीसी चीफ को लेकर भी फैसला किया जा सकता है।इस बैठक में सीएम कमलनाथ, सिधिया और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय भी शामिल हो सकते है।

 बैठक में कांग्रेस पार्टी को आगे बढ़ाने और संगठनात्मक मजबूती दिए जाने के विषय पर चर्चा होगी। वहीं पार्टी को इस समय की राजनीतिक स्थिति में उबारने के और भाजपा से मुकाबला करने की रणनीति पर विचार विमर्श होगा।वही वर्तमान राजनीतिक माहौल के साथ ही गांधी की विचारधारों को जन जन तक पहुंचाने के बारे में विचार विमर्श किया जाएगा। इस अहम बैठक में पार्टी महासचिवों, राज्य प्रभारियों और विधायक दल के नेता शामिल होंगे। सोनिया गांधी की अंतरिम अध्यक्ष बनने के बाद यह पहली बैठक होगी।

वही बैठक के पहले एमपी कांग्रेस के दिग्गज नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया 10 सितंबर को सोनिया गांधी से मुलाकात करेंगे। इसके बाद ही प्रदेशाध्यक्ष की नियुक्ति का रास्ता साफ होगा। पार्टी आलाकमान प्रदेश का नया अध्यक्ष कमलनाथ और सिंधिया की सहमति से चुनना चाहती है। इसी के चलते 12 सितंबर को देश भर के प्रदेश कांग्रेस अध्यक्षों की बैठक बुलाई है। माना जा रहा है कि इस दौरान नए प्रदेश अध्यक्ष के नाम पर अंतिम निर्णय हो सकता है। दौड़ में फिलहाल बड़े नामों में सिंधिया का नाम सबसे आगे है। इसके अलावा अजय सिंह, बाला बच्चन, उमंग सिंघार, ओमकार सिंह मरकाम, रामनिवास रावत और प्रभुराम चौधरी के नाम भी चर्चा में है। लेकिन सूत्रों के अनुसार सिंधिया को प्रदेशाध्यक्ष की कमान सौंपी जा सकती है। 


"To get the latest news update download tha app"