शहरी आवासहीनों को मिलेगी सौगात, झाबुआ से होगा 'मुख्यमंत्री आवास मिशन' का शुभारंभ

भोपाल| मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार शहरी आवासहीनों को आवास उपलब्ध कराने की अति-महत्वाकांक्षी योजना शुरू करने जा रही है| मुख्यमंत्री कमलनाथ बुधवार को झाबुआ से मुख्यमंत्री आवास मिशन (शहरी) का शुभारंभ करेंगे। इस योजना के तहत शहर की मलिन बस्तियों में रहने वाले आवासहीन भी अब मकान मालिक बन सकेंगे| योजना के तहत 5 लाख मकान बनाए जाएंगे| झाबुआ में आयोजित होने वाले इस कार्यक्रम में नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री जयवर्द्धन सिंह भी शामिल होंगे।

योजना का मुख्य उद्देश्य मध्यप्रदेश के सभी शहरों में गरीबों को आवासीय भूमि का पट्टा एवं पक्का आवास उपलब्ध कराना है। मिशन में आवास स्वामित्व के लिए किराया आधारित आवास निर्माण और जन-निजी भागीदारी (पीपीपी) से निर्माण कार्य होगा। योजना लगातार संचालित होगी।  15 सितम्बर से प्रारंभिक सूची का प्रकाशन, परीक्षण एवं दावे-आपत्तियों का निराकरण कर 30 अक्टूबर तक अंतिम सूची का प्रकाशन किया जायेगा। आगामी 5 नवम्बर से 20 दिसम्बर तक पट्टों का वितरण किया जायेगा।

योजना के तहत शहरी गरीबों को आवासीय भूमि का स्वामित्व दिया जायेगा। कच्चे अथवा आधे पक्के मकानों को पूरी तरह से पक्का बनाने के लिए वित्त पोषण और मलिन बस्तियों का एकीकृत विकास किया जायेगा। प्रति आवास एक से डेढ़ लाख रूपये लागत तक की भूमि का नि:शुल्क स्वामित्व और आवास निर्माण के लिए अन्य योजनाओं में कन्वर्जेंस से प्रति आवास 2 लाख 50 हजार रूपये अनुदान दिया जायेगा।

मलिन बस्तियों के हितग्राहियों को 3 लाख रूपये प्रति आवास और अन्य हितग्राहियों को डेढ़ लाख रूपये अनुदान दिया जायेगा। भूमि एवं अधोसंरचना विकास कार्यों के लिए प्रति आवास एक लाख 75 हजार से 2 लाख 25 हजार रूपये तक दिये जायेंगे।

"To get the latest news update download tha app"