आदिवासियों को कमलनाथ सरकार का एक और तोहफा

भोपाल।

झाबुआ उपचुनाव की तैयारियों में जुटी कमलनाथ सरकार का सीधा फोकस अब आदिवासियों पर है। इसी क्रम में प्रदेश के 1.53 करोड़ आदिवासियों को कमलनाथ सरकार ने एक और बड़ा तोहफा दिया है। सरकार ने फैसला किया है कि आदिवासी परिवार में बच्चे के जन्म पर भोज कराएगी। इसके पहले सरकार ने विश्व आदिवासी दिवस पर बड़े एलान किये थे।

इसके लिए सरकार ने नियमावली जारी की है। मुख्यमंत्री मदद योजना के तहत ये प्रावधान किया गया है। सरकार की इस योजना का लाभ राज्य के 89 आदिवासी विकासखंडों को मिलेगा। मृत्युभोज के लिए सरकार संबंधित परिवार को अनाज वितरण भी करेगी। सरकार के इस फैसले पर जनसंपर्क मंत्री ने कहा यह हमारी सरकार के द्वारा उठाया जाने वाला अच्छा कदम है। हम आदिवासी वर्ग के विकास की चिंता करते है।

दरअसल, 14  सालों का वनवास काट कांग्रेस को सत्ता दिलाने में आदिवासियों की भूमिका अहम रही। विधानसभा में आदिवासियों ने कांग्रेस के समर्थन में जमकर वोट किए लेकिन लोकसभा में पीछे हट गई। अब झाबुआ विधानसभा सीट पर उप चुनाव होना है। दोनों ही दल अपनी अपनी साख बचाने के लिए पूरी तरह से जुट गए हैं। कमलनाथ सरकार ने पूरा फोकस झाबुआ पर कर लिया है। लिहाजा आदिवासियों को अपने पाले में लाने के लिए कांग्रेस जी जान से जुट गई है। इसी के चलते बीते दिनों विश्व आदिवासी दिवस पर प्रदेश में सार्वजनिक अवकाश की घोषणा की गई है और इसी दिन सीएम कमलनाथ ने आदिवासियों के लिए बड़े एलान किये थे। अब सरकार ने एक और बड़ा तोहफा दिया है, आदिवासी परिवारों में बच्चे के जन्म पर अब भोज का आयोजन होगा।वहीं मृत्युभोज के लिए भी सरकार अनाज देगी।

"To get the latest news update download tha app"