एमपी में जयस ने दिखाया शक्ति प्रदर्शन, बढ़ सकती हैं कांग्रेस की परेशानी

झाबुआ। मध्य प्रदेश में कांंग्रेस और भाजपा झाबुआ विधानसभा उप चुनाव की तैयारियों में जुट गईं हैं। लेकिन दोनों ही प्रमुख दलों के लिए जय आदिवासी युवा संगठन (जयस) बड़ी चुनौती बनकर उभरा है। रविवार को विधानसभा उप चुनाव के मद्देनजर जयस ने जिले में शक्ति प्रदर्शन किया। संगठन का आयोजन  पॉलीटेक्निक कॉलेज मैदान पर आयोजित आदिवासी महापंचायत में झाबुआ, धार, आलिराजपुर, और रतलाम आदि जिलों के आदिवासियों ने हिस्सा लिया।

कमलनाथ सरकार में कांग्रेस विधायक हीरालाल अलावा लगातार पार्टी के खिलाफ मुखर हैं। झाबुआ में आयोजित महापंचायत  उन्होंने कहा कि हम सभी धर्मों और वर्गों का सम्मान करते हैं। लेकिन हमारा मुख्य उद्देश्य आदिवासियों के हितों का संरक्षण करना है। आदिवासी बहुल झाबुआ में आयोजित महापंचायत को जयस के संरक्षक एवं पड़ोसी धार जिले के मनावर से कांग्रेस विधायक हीरालाल अलावा ने मुख्य रूप से संबोधित किया। उन्होंने दिवंगत नेता दिलीप सिंह भूरिया का जिक्र करते हुए कहा कि  भूरिया ने आदिवासियों के हित में अनेक कदम उठाए हैं। उन्होंने राज्य की कांग्रेस सरकार को परोक्ष रूप से चेतावनी देते हुए कहा कि उसके कार्य आदिवासियों के हित में नजर नहीं आ रहे हैं।

कांग्रेस के टिकट पर विधायक चुने गए अलावा ने कहा कि हम उस दल का समर्थन करते हैं, जो आदिवासियों के हितों की बात करता है। पूर्ववर्ती भाजपा सरकार ने आदिवासियों के हितों का अनदेखा किया तो उसे नकार दिया गया। अब मौजूदा कांग्रेस सरकार भी आदिवासियों के हितों की रक्षा नहीं कर रही है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार के पास अब भी वक्त है।

इस वजह से खाली हुई थी झाबुआ सीट

नवंबर दिसंबर 2018 में संपन्न विधानसभा चुनाव में झाबुआ (अजजा) सीट से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) प्रत्याशी के रूप में गुमान सिंह डामोर ने कांग्रेस प्रत्याशी डॉ विक्रांत भूरिया को पराजित किया था। डॉ भूरिया, पूर्व केंद्रीय मंत्री कांतिलाल भूरिया के पुत्र हैं। इसके पांच माह बाद संपन्न लोकसभा चुनाव में भाजपा ने डामोर को रतलाम़ झाबुआ संसदीय सीट से प्रत्याशी घोषित किया और उन्होंने इस बार पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं कांग्रेस प्रत्याशी कांतिलाल भूरिया को पराजित कर दिया। बाद में डामोर ने झाबुआ विधायक पद से त्यागपत्र दे दिया। इस वजह से शीघ्र ही झाबुआ में विधानसभा उपचुनाव होंगे, हालाकि अभी इसका औपचारिक कार्यक्रम घोषित नहीं हुआ है।


"To get the latest news update download tha app"