VIDEO: झमाझम बारिश के बाद बरगी बांध के खुले 21 गेट, हाईअलर्ट जारी

जबलपुर। मध्यप्रदेश में लगातार झमाझम बारिश का दौर जारी है। नदी-नाले उफान पर आ गए है, सड़कों पर जल भराव की स्थित बनी हुई है।कई जगह संपर्क टूट गया है वही सभी जगहों के बांधों के गेट खोल दिए गए है।जबलपुर में भी  कल रात से लगातार हो रही बारिश की वजह से बरगी बांध के पूरे 21 गेट खोले गए बरगी बांध से 7500 क्यूबिक मीटर पानी लगातार छोड़ा जा रहा है 11 गेट 3 मीटर तक खोले गए हैं बरगी बांध  का अधिकतम जलभराव 422.90 मीटर तक पहुंच गयाॉ। इसके पहले 12 गेट खुल चुके हैं। वहीं केचमेंट एरिया में पानी का स्तर लगातार बढ़ता जा रहा है जिसके चलते प्रशासन ने नरसिंहपुर से होशंगाबाद तक में हाई अलर्ट जारी कर दिया है।

बरगी बांध के गेट आज तीन बार खोले गए। सुबह 5 गेट खुले उसके बाद 9 बजे 15 गेट खोले गए।बांध के कैचमेंट में दिन और रात में अधिक वर्षा के कारण पानी की आवक को देखते हुये 2720 क्युमेक्स तथा पावर हाउस से 200 क्युमेक्स, इस प्रकार कुल 2920 क्युमेक्स पानी बरगी बांध से मां नर्मदा में छोड़ा जा रहा है। जिसके चलते नर्मदा जी भी लबालब हो गई हैं। प्रशासन ने निचले इलाकों में सतर्कता बरतने के निर्देश जारी किए हैं।

बरगी डैम के 21 गेट खुलने के कारण जबलपुर, सिवनी, नरसिंहपुर, होशंगाबाद, रायसेन, देवास, सीहोर, खण्डवा और खरगोन जिले के तटवर्ती क्षेत्रों पर डूबने का खतरा मंडराने लगा है. यानी मध्‍य प्रदेश के 9 जिलों में हाई अलर्ट जारी किया गया है. बरगी डैम का पूर्ण जलभराव स्तर 422.76 मीटर है। आपको बता दें कि मध्‍य प्रदेश में बरगी के अलावा तवा, बारना, इंदिरा सागर, ओंकारेश्वर, बाणसागर, संजय सरोवर, राजीव सागर, गांधी सागर, मनीखेड़ा, गोपीकृष्ण, माही, हलाली सम्राट अशोक सागर, कोलार, केरवा, राजघाट और पेंच मुख्‍य डैम हैं.



"To get the latest news update download tha app"