MP: यहां पुलिस के पहरे में प्रत्याशी, बीजेपी-कांग्रेस के बड़े नेता नजरबन्द

भोपाल| लोकसभा चुनाव के छठे चरण के लिए मध्य प्रदेश की आठ सीटों पर मतदान जारी है| अलग अलग क्षेत्रों से झड़प और विवाद की खबरे सामने आ रही है| वहीं अति संवेदनशील क्षेत्रों में पुलिस प्रशासन की विशेष निगरानी है| उपद्रव और बूथ कैप्चरिंग की घटनाओं को रोकने और मतदान प्रभावित होने की आशंकाओं के चलते ग्वालियर-चंबल इलाके में बड़े नेताओं को नजरबंद कर दिया गया है। सबसे ज्यादा भिंड में यह असर दिख रहा है, जहां लगभग सभी बड़े नेता पुलिस के पहरे में है| मतदान समाप्त होने के बाद पुलिस का पहरा उन पर से हटेगा| 

इन नेताओं को सिर्फ वोट देने की अनुमति दी गई है। कांग्रेस पूर्व विधायक हेमंत कटारे सहित कई नेताओं के घरों के बाहर पुलिस तैनात कर दी गई है। हालांकि ऐसा पहली बार नहीं हुआ है, यहां होने वाले हर चुनाव में इसी तरह नेताओं को नजरबंद किया जाता रहा है। विधानसभा चुनाव में भी सभी बड़े नेताओं को एक साथ नजरबन्द कर दिया गया था| 

भिंड में भाजपा प्रत्याशी  संध्या राय,  कांग्रेस प्रत्याशी देवासीश जरारिया सहित गोहद विधायक रणवीर जाटव और बसपा प्रत्याशी को सर्किट हाउस में किया नजरबंद। सभी को भिंड सर्किट हाउस में बिठाया गया। प्रत्याशियों का कहना है कि पुलिस द्वारा बुलवाया गया सर्किट हाउस।  भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष और अटेर विधायक अरविंद भदौरिया को उनके ही घर मे नजरबंद किया गया है। जिसको लेकर श्री भदौरिया ने  कहा कि यह लोकतंत्र का मजाक है। कांग्रेस नेता डॉ गोविंद सिंह, मेहगांव विधायक ओपीएस भदौरिया सहित अन्य कांग्रेस के नेता खुलेआम घूम रहे है। लहार में तो दो तीन जगह उपद्रव हुआ है। फिलहाल सभी नेता पुलिस के पहरे में हैं| 


"To get the latest news update download tha app"