PM मोदी से मिले CM कमलनाथ, मांगा 16 हजार करोड़ का राहत पैकेज

भोपाल/नई दिल्ली।

इंडियन इकोनॉकि समिट में हिस्सा लेने दिल्ली पहुंचे सीएम कमलनाथ ने आज शुक्रवार को पीएम मोदी से मुलाकात की। कमलनाथ ने मोदी को मध्यप्रदेश में बाढ़ से हुए भारी नुकसान से अवगत करवाया और इसकी क्षति पूर्ति के लिए 16  हजार करोड़ के राहत पैकेज को जल्द से जल्द देने की मांग की।इस दौरान कमलनाथ ने हाल ही में कराए गए सर्वे की एक रिपोर्ट पीएम मोदी को भी सौंपी, जिसमें बताया गया है कि प्रदेश में कहा कितना नुकसान हुआ है।वही पीएम मोदी ने भी इस पूरे मामले पर गंभीरता दिखाते हुए नाथ को आश्वासन दिया है कि केन्द्र सरकार हर संभव मदद के लिए तैयार है। वहीं नुकसान की भरपाई के लिए केंद्र सरकार भी मध्यप्रदेश में सर्वे करवाएगी।

यह पहला मौका है जब कमलनाथ ने बाढ़ से प्रभावित लोगों के लिए केन्द्र से राहत पैकेज देने की मांग की। कमलनाथ ने पीएम को बताया कि प्रदेश में अभी तक 16 हजार करोड़ से ज्यादा की बर्बादी हो चुकी है। पिछले दिनों केंद्रीय दल बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा कर दिल्ली लौट चुका है।कमलनाथ ने मोदी से तत्काल 16 हजार करोड़ रुपए के पैकेज की मांग की है। इस दौरान कमलनाथ ने राज्य में बाढ़ से हुए नुकसान पर एक सर्वे रिपोर्ट भी पीएम मोदी को सौंपी है। पीएम मोदी ने भी कमलनाथ को  आश्वासन दिया है कि केंद्र सरकार प्रदेश को हर संभव मदद करेगी। वहीं नुकसान की भरपाई के लिए केंद्र सरकार भी मध्यप्रदेश में सर्वे करवाएगी।अब केंद्रीय टीम द्वारा सर्वे के बाद ही पता चल पाएगा कि केंद्र सरकार मध्यप्रदेश को कितना पैकेज देते ही है।

प्रदेश के राजस्व विभाग के अनुसार प्रदेश के 52 में से 39 जिलों में अतिवृष्टि और बाढ़ से बहुत अधिक क्षति हुई है। राज्य में जून से सितंबर माह के बीच हुई वर्षा से लगभग 60 लाख 47 हजार हेक्टेयर क्षेत्र की 16 हजार 270 करोड़ रूपये की फसल प्रभावित हुई है। इसमें लगभग 53 लाख 90 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में 33 प्रतिशत तक फसल क्षतिग्रस्त हुई है। प्रदेश में अति-वृष्टि से क्षतिग्रस्त मकानों में 55 हजार 372 पक्का-कच्चे मकान, 4 हजार 98 पक्के मकान तथा 55 हजार 267 आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त कच्चे मकान शामिल हैं। इसी क्रम में 3 हजार 649 झोपड़ियाँ और 3 हजार 274 पशु शेड भी क्षतिग्रस्त हुए हैं।प्रदेश में बाढ़ और आकाशीय बिजली से 674 लोगों की मृत्यु हुई, 18 लोग शारीरिक अपंगता के शिकार हुए तथा तीन लोगों को गंभीर चोटें आई हैं। लगभग 1515 दुधारू पशु, 373 भारवाही पशु तथा 3 हजार 270 मुर्गियों की क्षति हुई है।

एमपी में केंद्र सरकार दोबारा सर्वे करवाएगी।  पीएम मोदी ने पूरे मामले को लेकर गंभीरता दिखाई है। उन्होंने हर संभव मदद का भरोसा दिया है। मैंने अपनी तरफ से पीएम सर्वे रिपोर्ट सौंप दी है। 

कमलनाथ, सीएम, मप्र

"To get the latest news update download tha app"