भोपाल को दो हिस्सों में बांटने की तैयारी, बीजेपी का कड़ा विरोध

भोपाल।  मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के नगर निगम को राज्य सरकार दो हिस्सों में बांटने जा रही है। इस प्रस्ताव को राज्य सरकार ने मंज़ूरी दे दी है। कहा जा रहा है एक दो दिन में दावे आपत्ति मंगाने के लिए राजपत्र का प्रकाशन किया जाएगा। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इस प्रस्ताव पर दावे आपत्ति के लिए एक हफ्ते का समय तय किया गया है। भाजपा ने इस फैसला का विरोध करने का ऐलान कर दिया है। 

दावे आपत्ति की सुनवाई के बाद कलेक्टर अपनी सिफारिशों को राज्य सरकार के पास भेजेंगे। बता दें राज्य सरकार ने भोपाल नगर निगम को दो हिस्सों में बांटने का फैसला लिया है। अगर इस प्रस्ताव को राज्यपाल से मंज़ूरी मिल जाती है तो भोपाल में दो नगर निगम बन जाएंगी। एक भोपाल नगर निगर और दूसरी कोलार नगर निगम। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक कोलार नगर निगम में 31 वार्ड और उनकी जनसंख्या 7 लाख होगी। जबकि भोपाल में 54 वार्ड और 12 लाख जनसंख्या होगी। 

पहले भी हुआ था विरोध

कांग्रेस सरकार बनने के बाद वार्ड नंबर 80 से 85 को भोपाल नगर निगम से अलग करने की अधिसूचना जारी हुई थी. कोलार के 6 वार्डों को अलग कर नपा गठित करने के लिए जारी अधिसूचना पर 100 आपत्तियां आईं थीं. इनमें से ज्यादातर ने विभाजन का विरोध किया था. जिसके बाद नगरीय आवास एवं विकास मंत्री जयवर्धन सिंह ने कोलार नपा गठन को नामंजूर कर दिया था. इसके बाद दो नगर निगम की कवायद शुरू हुई. तीन अलग-अलग सुझावों पर चर्चा के बाद जिला कांग्रेस ने पूर्वी भोपाल और पश्चिमी भोपाल नगर निगम के गठन का प्रस्ताव दिया था।

"To get the latest news update download tha app"