डिनर डिप्लोमेसी: सिंधिया बोले-मैं किसी दौड़ में नहीं, कमलनाथ ने कहा- दिल्ली की चर्चा हुई

भोपाल| कांग्रेस में अलग अलग गुटों के बीच चल रही खींचतान के बीच गुरूवार को लंच और डिनर पर कांग्रेस ने एकजुट का सन्देश दिया| दोपहर में सिंधिया खेमे के स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट के यहां गुरुवार को डिनर से पहले मुख्यमंत्री कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीच करीब 25 मिनट तक बंद कमरे में मीटिंग हुई। इससे पहले लंच में भी दोनों साथ बैठे और अकेले में बातचीत की। इस डिनर में 90 विधायक और 27 मंत्री मौजूद थे, लेकिन दिग्विजय सिंह, अजय सिंह और पीसी शर्मा नजर नहीं आए। डिनर के बाद बाहर आये सभी नेताओं ने कहा कांग्रेस में सब एक साथ हैं, साथ थे और साथ रहेंगे| 

डिनर के बाद बाहर निकले पूर्व सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने राष्ट्रीय अध्यक्ष के लिए उनके नाम दौड़ में है या नहीं इस पर कहा कि न में किसी दौड़ में शामिल हूँ, न मुझे किसी कुर्सी का मोह है, वर्तमान की परिस्थिति सही नहीं है, इतनी गंभीर संकट का समय कांग्रेस में कभी नहीं आया है| यह समय एक साथ होकर कांग्रेस को इस स्तिथि से उभारने का है और यह हमारा दायित्व है|  वहीं गोवा और कर्नाटक के सियासी संकट पर उन्होंने बीजेपी पर निशाना साधा| सिंधिया ने कहा कि भाजपा ने स्पष्ट बता दिए हैं कि अगर जनता ने उन्हें सामने के दरबाजे से प्रवेश नहीं दिया तो पीछे के दरबाजे से राज्यों की सरकारें हड़पने की कोशिश करेगी| उन्हें विश्वास है जनता भी भाजपा की असलियत जल्द पहचानेगी| 

सीएम बोले हम तो दिल्ली की चर्चा कर रहे थे, मेरा तो लंच भी था 

मुख्यमंत्री ने डिनर के बाद कहा, इसमें किसी तरह की डिप्लोमेसी नहीं है, मेरा तो लंच भी था, डिनर की क्या बात है|  उन्होंने कहा कर्नाटक-गोवा में राजनीतिक संकट की तुलना मध्य प्रदेश से मत कीजिए, ​वहां अलग परिस्थिति है, मैं पहले भी डिनर पार्टी कर चुका हूं, दिल्ली में भी की थी|  डिनर में क्या किया, इस सवाल पर कमलनाथ बोले, दिल्ली की चर्चा कर रहे थे|

प्रदेश कांग्रेस के नए प्रदेशाध्यक्ष की अटकलों और सिंधिया खेमे के मंत्रियों व विधायकों की ब्यूरोक्रेसी से चल रही तनातनी के बीच लंच और डिनर पाॅलिटिक्स से सियासत से दिन भर सियासत गरमाई रही| वहीं मंत्री तुलसी सिलावट के बंगले पर देर रात तक हलचल रही| रात करीब साढ़े आठ बजे सिंधिया सिलावट के निवास पर डिनर में पहुंचे। रात करीब नौ बजे कमलनाथ भी डिनर में पहुंचे। इस डिनर में 90 विधायक और 27 मंत्री मौजूद थे, लेकिन दिग्विजय सिंह, अजय सिंह और पीसी शर्मा नजर नहीं आए। 



"To get the latest news update download tha app"