ABVP कार्यकर्ताओं को थाने में पीटा, कपड़े उतार लॉकअप में डाला, पुलिसकर्मियों पर भड़के BJP नेता

रतलाम।

मध्य प्रदेश के रतलाम जिले में सोमवार देर रात औधोगिक थाने में हंगामा खड़ा हो गया। यहां ABVP कार्यकर्ताओं और अभाविप के पदाधिकारियों का पुलिस से विवाद हो गया। बात इतनी बढ़ी की पुलिस ने भाजयुमो व अभाविप नेताओं को थाने में ही पीट दिया और कपड़े उतरवा दिए। इसके बाद नारे लगाने लगे तो बंदीगृह में डाल दिया। जैसे ही इस बात की सूचना पूर्व गृहमंत्री हिम्मत कोठारी और विष्णु त्रिपाठी को लगी वे थाने पहुंचे और पुलिस को जमकर खरी-खोटी सुनाई।

बता दे कि बीते एक माह में हिन्दू संगठन से जुड़े कार्यकर्ताओं की पिटाई का यह तीसरा मामला है, जिसे लेकर बीजेपी के नेता इन दिनों खासे गुस्से में हैं।

मिली जानकारी के अनुसार, सोमवार रात भाजयुमो और अभाविप के पदाधिकारी पारिवारिक विवाद की शिकायत लेकर औद्योगिक क्षेत्र थाने पहुंचे थे। इस दौरान उनका पुलिसकर्मी से विवाद हो गया।पुलिस ने ABVP के दो कार्यकर्ताओं को थाने से बाहर जाने के लिए कहा,लेकिन वह नही माने और नारे लगाने लगे और बहस होने लगी। इस दौरान लाइट भी चली गई, जिसके बाद पुलिस ने उन दोनों की पिटाई कर उन्हें लॉकअप में डाल दिया। इस बात की भनक जैसे ही पूर्व गृहमंत्री हिम्मत कोठारी और विष्णु त्रिपाठी को लगी वे थाने पहुंचे और  पुलिस को जमकर लताड़ा।

हैरानी की बात तो ये है कि पूरा घटनाक्रम सीएसपी मानसिंह चौहान की मौजूदगी में हुआ। इस पर कोठारी ने सीएसपी से दो टूक शब्दों में कहा घायल कार्यकर्ताओं को अभी जिला अस्पताल पहुंचाओं और मेडिकल कराओ। वरना डीआईजी को बुलाओ मैं बात करता हूं। एक माह में चार बार कार्यकर्ताओं को पीट चुके हैं, शहर को पश्चिम बंगाल बनाकर रख दिया है। एमएलसी करवाओ वरना धरना देकर यहीं खड़ा रहूंगा। इस पर सीएसपी ने कहा कि कार्यकर्ताओं ने पुलिसकर्मियों से अभद्रता की है।फिर कोठरी ने कहा कि फुटेज दिखाओ, गलती हुई तो माफी मांग लेंगे। इसके बाद भाजपा नेता बंदी गृह पहुंचे। लॉकअप में कृष्णा व हार्दिक को बिना कपड़ों को देख भड़क गए। पूर्व निगम अध्यक्ष त्रिपाठी बोले- क्या डकैती डाल दी है जो कपड़े उतरवा दिए? इसके बाद घायल कृष्णा, हार्दिक और जयेश मजूरिया व विशाल पाल को मेडिकल के लिए रात 12.10 बजे भेजा।इस दौरान काफी देर हंगामा होता रहा ।


"To get the latest news update download tha app"