भूरिया पर बरसे झा- 'दिल्ली में मां-बेटे की तो झाबुआ में बाप-बेटे की कांग्रेस'

झाबुआ।

झाबुआ उपचुनाव की नजदीकियों से सियासी पारा उछाल पर है। वोटिंग से पहले बीजेपी कांग्रेस में बयानबाजी का दौर तेजी से चल रहा है। दोनों ही दल एक दूसरे पर छींटाकशी कर रहे है। रविवार को बीजेपी नेताओं ने रोड शो के दौरान सरकार और कांग्रेस प्रत्याशी पूर्व केन्द्रीय मंत्री कांतिलाल भूरिया को जमकर घेरा। राज्यसभा सांसद और भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा ने बड़ा हमला बोलते हुए कहा कि  बेटा हार गया, पिताजी लड़े, वो भी हार गए। अब फिर बेटे की जगह विधानसभा में पिताजी आ गए। अगर हम दिल्ली में कहते हैं कि मां-बेटे की पार्टी है। ये जो झाबुआ संसदीय क्षेत्र है तो क्या ये पिताजी और बेटे की पार्टी है। 

झा ने कहा कि  कांतिलालजी से मैं जवाब चाहता हूं आप किस हैसियत से चुनाव लड़ रहे हैं। जो झाबुआ के मेडिकल कॉलेज का नाम कटवा दे, उसे यहां से चुनाव लड़ने का कोई हक नहीं है। झाबुआ में मेडिकल कॉलेज आना था लेकिन कांतिलाल भूरिया ने झाबुआ का नाम ही कटवा दिया। कांतिलाल भूरिया ने ऐसा इसलिए किया कि उनके बेटे-बहू यहां क्लीनिक चलाते हैं। कांतिलाल भूरिया बताएं कि केन्द्र में मंत्री रहते हुए उन्होंने झाबुआ को क्या दिया।  आपने यहां मेडिकल कॉलेज क्यों नहीं आने दिया। मप्र सरकार के प्रस्ताव में से नाम कै से कटवाया । 

झा ने आगे कहा कि अगर हम दिल्ली में कहते हैं कि मां-बेटे की पार्टी है। ये जो झाबुआ संसदीय क्षेत्र है तो क्या ये पिताजी और बेटे की पार्टी है। क्या कांग्रेस में कोई नेता नहीं बचा है। क्या कांग्रेस एक परिवार की सदस्य हो गई है। झाबुआ के कांग्रेस कार्यकर्ताओं की हत्या कौन कर रहा है। आदिवासियों में ये बात फै ल गई है कि आखिर कब तक कांतिलाल। आपने क्या कि या। खाली चुनाव लड़ना आपका काम है।  कांतिलालजी अगर आप सफल थे तो कांग्रेस ने अध्यक्ष पद से क्यों हटाया। आप सफल थे तो आप चुनाव लगातार क्यों हारे। भतीजी, बेटा और स्वयं... बस यही है कांग्रेस।

भूरिया ने किया पलटवार

झा के आरोपों के बाद कांग्रेस में हड़कंप मच गया औऱ देर शाम भूरिया ने आनन फानन में प्रेस वार्ता कर जमकर पलटवार किया।भूरिया ने कहा कि मुझ पर आरोप लगाया है कि मैंने मेडिकल कॉलेज खुलने नहीं दिया। पंद्रह साल से तुम्हारी सरकार थी तो तुमको खोलना चाहिए था। दिल्ली में हमारी सरकार थी तो हमने संसदीय क्षेत्र में रतलाम में मेडिकल कॉलेज बनवाया, जिसमें बच्चे आज पढ़ रहे हैं। जहां तक विकास की बात है, कांग्रेस पार्टी ने विकास कि या है। भाजपा का चाल, चरित्र और चेहरा सामने आता जा रहा है।  ये बरसाती मेंढ़क है। चुनाव में आएंगे। फिर आकर खड़े नहीं रहेंगे। कभी मुड़कर भी नहीं देखेंगे। इनको 21 तारीख को जवाब मिलेगा और ये 24 तारीख को मुंह छुपाते फिरेंगे।उन्होंने आगे कहा कि वंशवाद की बात की जा रही है। मैं भाजपा के नेताओं से पूछना चाहता हूं कि क्या प्रभात झा ने अपने बेटे के टिकट के लिए एड़ी-चोटी तक का जोर नहीं लगाया था, लेकिन भाजपा ने टिकट नहीं दिया। भार्गव, कै लाश जोशी, सकलेचा, विजयवर्गीय के बेटे को टिकट दी, तब वंशवाद नहीं था।


"To get the latest news update download tha app"