शीला दीक्षित को श्रद्धांजलि के बाद सदन की कार्यवाही कल तक स्थगित

भोपाल। विधानसभा में आज दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित एवं पूर्व विधायक नेमीचंद्र जैन को श्रद्धाजलि देने के बाद सदन की कार्यवाही मंगलवार तक के लिए स्थगित कर दी गई है।  स्पीकर एनपी प्रजापित ने शीला दीक्षित के सम्मान में सदन की कार्यवाही स्थगित की है। सदन मंगलवार को शुरू होगा। संभवत: कल सदन की कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित हो सकती है। 

रविवार को सदन में हंगामे के बीच स्पीकर ने एक दर्जन विभागों की अनुदान मांगों पर चर्चा कराए बिना ही पारित करा दिया। विपक्ष ने बजट पारित होने से पहले सदन से वाकआउट कर दिया था। विपक्ष ने आरोप लगाए कि सरकार के पास उनकी पार्टी की नेता शीला दीक्षित को श्रद्धाजलि देने का समय नहीं है।  रविवार को राजनीतिक ड्रामा खूब चला। आज की कार्यसूची में सभी कार्य शामिल किए थे। सदन की कार्यवाही शुरू होते ही विधानसभा में आज दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित एवं पूर्व विधायक नेमीचंद्र जैन को श्रंद्धाजिल दी गई। सदन ने शीला दीक्षित द्वारा मुख्यमंत्री रहते दिल्ली में किए गए विकास कार्यों का उल्लेख किया। उल्लेखनीय है कि विधानसभा का मानसून सत्र 8 जुलाई से 25 जुलाई तक निर्धारित है। 

दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित को श्रद्धांजलि देने और सदन स्थगित करने के मुद्दे पर रविवार को जमकर हंगामा हुआ| पूर्व मंत्री और भाजपा के वरिष्ठ विधायक नरोत्तम मिश्रा ने दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस की वरिष्ठ नेत्री शीला दीक्षित  के निधन का उल्लेख करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि देने की मांग की। इस पर स्पीकर ने कहा कि यह अब कार्य सूची में नहीं है इसलिए ऐसा नहीं हो पाएगा। इस पर नरोत्तम ने कहा कि क्या शीला दीक्षित का दोष सिर्फ यह है कि वे गांधी नेहरू परिवार की नहीं थी और खुद मुख्यमंत्री कमलनाथ यहां बैठे हुए हैं इतनी वरिष्ठ नेता को श्रद्धांजलि देना क्या उचित नहीं। इस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि श्रद्धांजलि कल दी जाएगी। लेकिन नरोत्तम मिश्रा ने एक बार फिर दोहराया श्रद्धांजलि आज ही देनी चाहिए और केवल 5 मिनट के लिए सदन स्थगित कर शीला दीक्षित के सम्मान में कार्यवाही रुकना चाहिए। नरोत्तम ने गोवा के मुख्यमंत्री रहे मनोहर पारिकर के निधन का भी उल्लेख किया और बताया कि किस तरह  विधानसभा पूरे दिन के लिए स्थगित कर दी गई थी। लेकिन स्पीकर नहीं माने और इसके बाद भाजपा सदस्यों ने शीला दीक्षित  को श्रद्धांजलि देने की मांग करते हुए सदन से बाय काट कर दिया। बाद में गांधी प्रतिमा के सामने जाकर भाजपा विधायकों ने शीला दीक्षित को श्रद्धांजलि दी।

"To get the latest news update download tha app"