कैलाश की कमलनाथ सरकार को चुनौती, बोले- जो उखाड़ना है उखाड़ ले

इंदौर।

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कमलनाथ सरकार पर जमकर हमला बोला है। विजयवर्गीय का कहना है कि सरकार के पास माइनिंग, खनिज समेत विभिन्न विभागों की अवैध कमाई से बनाया गया नंबर 2 का पैसा है। किसानों के हक का पैसा जो सरकारी खजाने में जमा होना था, वो नेताओं के घर चला गया, बारिश से किसानों की फसल बर्बाद हो गई लेकिन सरकार अभी तक मुआवजे की व्यवस्था नहीं कर पाई है। नेता अपनी जेबें भरने में लगे हैं। किसानों की चिंता किसी को नहीं है। वहीं पेंशन घोटाले की जांच को लेकर विजयवर्गीय ने कहा कि जिसे जो उखाड़ना है उखाड़ लें।

दरअसल, मंगलवार को दशहरे परकैलाश विजयवर्गीय  राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ के पथ संचलन में शामिल हुए थे और इसके बाद पत्रकारों से चर्चा के दौरान ये बातें कही।आरएसएस के पथ संचलन में शामिल हुए विजयवर्गीय ने कहा कि डेमोक्रेसी के नाम पर भारत में कुछ ऐसे लोग हैं जो देश के लिए खतरनाक हैं, जो हमारे देश में रहकर पाकिस्तान के जयकारे लगाते हैं, इन्हें जवाब देना जरूरी है।वहीं पेंशन घोटाले को लेकर कैलाश विजयवर्गीय ने कमलनाथ सरकार को खुली चुनौती देते हुए कहा कि सरकार को जो उखाड़ना हो उखाड़ ले, मैं चिंता नहीं करता। उन्होंने कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह के बयान पर पलटवार किया।

इधर, महापौर चुनाव बिल पर विजयवर्गीय ने कहा कि ये अध्यादेश लाकर कांग्रेस अपने नेता पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के विचारों हत्या कर रही है। पूर्व पीएम राजीव गांधी के विचार थे कि पंचायती राज सशक्त हो, नगरीय निकाय मजबूत हो। सरकार का ये फैसला डेमोक्रेसी के भी खिलाफ है. राज्यपाल को अध्यादेश लौटाना ही चाहिए। 


"To get the latest news update download tha app"