सिंधिया ने फिर सरकार को घेरा, 'प्रदेश में क्या हाल है ट्रांसफर-पोस्टिंग का, सबको पता है'

भोपाल| कांग्रेस के दिग्गज नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया की इशारों ही इशारों में बयानबाजी से प्रदेश की सियासत गर्म है|  सिंधिया पिछले तीन-चार दिन से ग्वालियर चंबल संभाग में हैं और लगातार अपनी ही सरकार पर निशाना साध रहे हैं| कर्जमाफी पर सवाल उठाने के बाद अब सिंधिया प्रदेश में ट्रांसफर पोस्टिंग को लेकर बड़ी बात कही है| तबादलों को लेकर विपक्ष लगातार सरकार को घेरता आ रहा है, ऐसे में सिंधिया के इस बयान ने एक बार फिर सरकार को कटघरे में खड़ा करने काम किया है, वहीं विपक्ष को एक और मुद्दा मिल गया है| 

दरअसल, हाल ही में ज्योतिरादित्य सिंधिया मुरैना पहुंचे थे जहां कांग्रेस महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया के सामने कार्यकर्ताओं ने अपना दर्द बयां किया, अफसरों की शिकायत की। इस पर सिंधिया ने कार्यकर्ताओं से कहा ट्रांसफर की प्रक्रिया में मत पड़ो, ट्रांसफर-पोस्टिंग को लेकर क्या हालात हैं, सब जानते हैं, ये किसी से छिपा नहीं। कर्जमाफी पर सवाल उठाने के बाद सिंधिया का यह बयान सुर्ख़ियों


सिंधिया के बयानों से भाजपा खुश 

इससे पहले सिंधिया के कर्जमाफी को लेकर दिए गए बयान पर जमकर सियासत हुई, इसे कमलनाथ सरकार पर बड़ा हमला माना जा रहा है, जिसमें उन्होंने कहा था कि कर्जमाफी का जो वादा था, वह पूरा नहीं हो पाया है। किसानों का सिर्फ 50 हजार रुपए तक का कर्जमाफ हुआ है। जबकि हमने दो लाख रुपए तक के कर्जमाफी का वादा किया था। इसलिए सरकार को किसान का पूरा कर्जमाफ करने की दिशा में काम करना चाहिए। में है|  सिंधिया के इस रुख से बीजेपी खुश है,  पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से लेकर नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव तक सिंधिया की टिप्पणियों को लेकर कमलनाथ को घेर रहे हैं। वहीं नेता प्रतिपक्ष ने तो यह भी कहा कि यदि कांग्रेस की सरकार की ओर से वादाखिलाफी से सिंधिया परेशान हैं तो फिर उन्हें पार्टी छोड़ देनी चाहिए।



"To get the latest news update download tha app"