शिवराज पर तीखे हुए जयवर्धन के वार

भोपाल। प्रदेश के अधिकांश इलाकों में जर्जर हो चुकी सड़कों को लेकर इन दिनों जमकर सियासत हो रही है। एक तरफ जनता को टूटी फूटी सड़कों से गुजरना पड़ रहा है तो वहीं सियासतदार एक दूसरे को इसके लिए दोषी ठहराने में व्यस्त है। कांग्रेस जहां सड़कों की बदहाली को लेकर पूर्व की सरकार पर हमले बोल रही है, वहीं बीजेपी सडकों की मरम्मत न कराने का ठीकरा सरकार पर फोड़ रही है। इसी क्रम में अब नगरीय प्रशासन मंत्री जयवर्धन सिंह ने ट्वीट कर शिवराज सिंह चौहान पर तंज कसा है। मंत्री बनने से पहले अपने पिता दिग्विजय सिंह के साथ जाकर पूर्व सीएम शिवराज का आशीर्वाद लेने वाले जयवर्धन इन दिनों उनके खिलाफ तीखे तेवर दिखा रहे हैं।

जयवर्धन ने ट्वीटर के माध्यम से प्रदेश की बदहाल और टूटी-फूटी सड़कों को लेकर शिवराज पर चुटकी ली है। जयवर्धन ने लिखा है कि पूर्व सीएम पिछले तीन कार्यकाल में भोपाल को एक भी मास्टर प्लान नही दे पाए। कमीशन छाप अमेरिका वाली सड़कों ने एक साल में ही दम तोड़ दिया। दशकों से झुग्गियों में बसे लोगो को बीजेपी सरकार ने उनके हालात पर छोड़ा।जब सत्ता थी तब भोपाल की चिंता नही हुई और जब भोपाल का विकास किया जा रहा है तो आपत्ति जता रहे है। वही अगले ट्वीट में जयवर्धन ने लिखा है कि भोपाल अपनी सामूहिक विरासत को लेकर फैलता जा रहा है। इसके विकास के साथ साथ यहाँ के निवासी की चिंता को केंद्र बिंदु में रखने के लिए वार्डो का छोटा होना एवं पार्षदों को शक्ति प्रदान करना जरूरी था।  पार्षदों को सीमित क्षेत्र एवं अधिक शक्ति से विकास का पहिया तेजी से दौड़ेगा।

पहले क्यों याद नहीं आई शिवराज को नैतिकता 

इससे पहले जयवर्धन सिंह ने शिवराज पर बड़ा हमला बोलते हुए पूछा था कि व्यापमं, सिंहस्थ, ई-टेण्डरिंग घोटालों में उनकी नैतिकता कहां गई थी? जयवर्धन सिंह ने यह सवाल शिवराज को यह जवाब उनके उस ट्वीट पर दिया है जिस पर उन्होंने कमलनाथ सरकार के खिलाफ लड़ाई छेडऩे की बात की थी। शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर कहा था कि मैं सत्ता में रहूं या न रहूं, उससे मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता। मैंने नैतिकता के आधार पर मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिया था, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि मैं जनता के हक की लड़ाई लडऩा बंद कर दूं। गड़बड़ होगी तो मैं लड़ूंगा जनता को अकेला नहीं छोडूंगा।  शिवराज के इस ट्वीट के जवाब में जयवर्धन सिंह ने लिखा था कि "व्यापमं, सिंहस्थ और ई-टेण्डरिंग घोटाले में आपकी नैतिकता कहां चली गई थी। शिवराज की अमेरिका वाली सड़कें एक साल भी नहीं चलीं। जयवर्धन ने मुख्यमंत्री कमलनाथ से निवेदन किया है कि इनकी (शिवराज सिंह की)जांच कराएं ताकि इनकी कारगुजारियां जनता के सामने आ सकें"।

तीखे होते जा रहे जयवर्धन के वार 

पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के पुत्र जयवर्धन सिंह दूसरी बार विधायक बनने के बाद और मंत्री बनने से पहले अपने पिता दिग्विजय सिंह के साथ शिवराज सिंह चौहान के घर आशीर्वाद लेने पहुंचे थे। अभी तक माना जा रहा था कि बेहद विनम्र जयवर्धन सिंह सदैव शिवराज सिंह का सम्मान करते हैं, लेकिन अब शिवराज के लिए जयवर्धन के वार तीखी होते जा रहे हैं| 

 




"To get the latest news update download tha app"